शनि देव ने काटे कष्ट और क्लेश

कई बार व्यक्ति के जीवन में ग्रहों से सम्बंधित अनेकों समस्याओं का सामना करना पड़ता है. कभी किसी के जीवन में शनि की साढ़ेसाती चलती है. तो कभी अन्य गृह दोषों से परेशान सा रहता है .पर इसका भी निवाकरण होता है. की यदि आप शनिदेव को प्रसन्न कर उनसे अपने जीवन की हर समस्या का समाधान लेना चाहते है .और आशीर्वाद चाहते है तो तो आपको ऐसे उपाय बता रहे हैं। जिन्हें आप यदि नियम के साथ अपनाते है. तो जीवन की हर समस्या दूर हो जाएगी और शांति का अनुभव करेगें .

आपको चाहिए की आप प्रत्येक शनिवार के दिन स्नान कर शनि देव को तेल चढ़ाए और इसी दिन गाय और काले कुत्ते को तेल में रोटी भिगोकर खिलाये इससे आपके जीवन में चल रहे इस शनि दोष से निवृति मिल जाएगी . यदि आप हर एक शनिवार के दिन शनि चालीसा का पाठ करते है. तो आपके जीवन से हमेशा के लिए इस दोष के साथ ही साथ जीवन में आये गृह दोषों से मुक्ति मिल जाएगी. और साथ ही साथ यदि आपके जीवन में कोई समस्या आने वाली होगी तो वह भी टल जाएगी. जिसका आप जिक्र भी न कर पायेगें .

कष्ट निवारण के कुछ सरल उपाय- 

आपको की पूजा के पश्चात राहु और केतु की भी पूजा भी करनी चाहिए। आपको शनिवार के दिन पीपल वृक्ष में जल अर्पित करना चाहिए आप शनि अमावस्या के दिन या रात्रि में शनि चालीसा का पाठ, शनि मंत्रों का जाप करें आपके कष्ट दूर हो जायेगें. उड़द की दाल से बने पकवान को कुत्ते व् गाय को खिलाएं और गरीबों को अनाज व् मुद्रा दान करें . शनि यंत्र, शनि लॉकेट, काले घोड़े की नाल इनमें से किसी एक को धारण कर लें.

आपके कष्ट निवारण हेतु शनि मंत्र- 

नीलाम्बर शूलधरः किरीटी गृघ्रस्थितस्त्रसकरो धनुष्मान्। चर्तुभुजः सूर्यसुतः प्रशान्त: सदाऽस्तुं मह्यं वरंदोऽल्पगामी॥ सुख-समृध्दि दायक शनि मंत्र कोणस्थ:पिंगलो वभ्रुः कृष्णौ रौद्रान्त को यमः। सौरिः शनैश्चरौ मंदः पिप्पलादेन संस्तुतः।।

ये उपाय दिलाऐंगे शनि पीड़ा से मुक्ति
माँ संतोषी का व्रत दिलाता है ग्रहों से शांति

Check Also

महाभारत: इस कारण तीरों की शैया पर भीष्म को पड़ा था सोना, कर्म कभी नहीं छोड़ते पीछा

जीवन में कभी भी बुरे कर्म न करें अन्यथा किसी न किसी जन्म में कर्मफल …