नौकरी चाहिए तो भगवान शिव की शरण में आइए. .. 5 अनसुने उपाय

भगवान भोलेनाथ के पास हर समस्या का समाधान है… अगर आपको है नौकरी की तलाश तो पहले शिव का वरदान लें…भोलेनाथ शिव के उपाय नौकरी की राह प्रशस्त करते हैं…

* रोजाना शिवलिंग पर जल चढ़ाकर अक्षत यानी चावल अर्पित करना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार इस उपाय से व्यक्ति को अखंड लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। नौकरी के मार्ग की बाधाएं दूर होती हैं।* किसी शनिवार के दिन नित्य कर्म से निवृत होकर नहा-धोकर के पीपल के वृक्ष से एक साफ़ व बिना कटा हुआ पत्ता तोड़ लाएं। पत्ते को गंगाजल से धोएं। फिर उसे एक थाली में रखकर 11 बार गायत्री मंत्र से अभिमंत्रित करके अपने पूजा वाले स्थल पर शिव जी की शरण में रख दें। ऐसा आपको हर सोमवार के दिन करना है। अगले सोमवार नया पत्ता लाएं तब पुराना पत्ता हटाएं और उसे उसी पीपल के पेड़ के नीचें रख आएं। यह नौकरी प्राप्ति का सटीक उपाय है।* भगवान शिव का नाम लेकर हल्दी की 7 साबुत गांठें, 7 गुड़ की डलियां, एक रुपये का सिक्का किसी पीले कपड़े में बांधकर रेलवे लाइन के पार फेंक दें। फेंकते समय कहें, हे भोलेनाथ आपकी शरण में हूं मुझे रोजगार का आशीष दीजिए…* सोमवार के दिन संध्या के समय बिल्वपत्र वृक्ष के पास देशी घी का दीपक और एक अगरबत्ती जलाएं। नौकरी प्राप्त करने के लिए बिल्व वृक्ष से मन ही मन प्रार्थना करें। प्रणाम कर घर वापस आ जाएं। सोमवार से आरंभ कर यह काम 43 दिन लगातार करें तो जल्द ही नौकरी, इंटरव्यू में सफलता प्राप्त होती है।* लाख प्रयासों के बावजूद भी यदि सफलता नहीं मिल रही हो तो भगवान शिव की पूजा करने के बाद कुंए में दूध डालें। ऐसा करते वक्त इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि कुआं सूखा न हो, उसमें पानी ज़रूर हो। इस उपाय को करते वक्त किसी से भी इस बात का ज़िक्र न करें। सभी नौकरी के अहम उपाय हैं।

11 सोमवार, 11 शिव नाम और 11 अक्षत का करिश्मा...
महाशिवरात्रि पर करें नवग्रहों की पूजा, पढ़ें प्रार्थना, मंत्र एवं पूजन विधि

Check Also

हिंदी पंचांग के अनुसार, आषाढ़ माह में मनाई जाती है शुक्ल पक्ष की द्वादशी को वासुदेव द्वादशी

हिंदी पंचांग के अनुसार, आषाढ़ माह में शुक्ल पक्ष की द्वादशी को वासुदेव द्वादशी मनाई …