सावन में कभी ना खाए यह सब्जी वरना भोलेनाथ हो जाएंगे रुष्ट

आप सभी जानते ही हैं कि सावन और देवों के देव महादेव का बहुत गहरा नाता है और सावन का महीना भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है. ऐसे में भगवान विष्णु के सो जाने के बाद सावन के महीने में रूद्र ही सृष्टि के संचालन का कार्य देखते हैं और आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि सावन के पहले सोमवार और नित्य सोमवार को क्या-क्या नहीं करना चाहिए. आइए जानते हैं.

सावन सोमवार के नियम –
–  कहते हैं सावन सोमवार के दिन जो व्रत ना भी रखता हो वो किसी भी अनैतिक कार्य करने से बचें, बुरे विचार मन में ना लाएं साथ ही ब्रहमचर्य का पालन करना चाहिए.
– आप सभी को बता दें कि सावन सोमवार के दिन सुबह जल्दी उठकर भगवान का ध्यान करना चाहिए और साथ ही बड़े और असहाय लोगों का अपमान ना करना चाहिए.
– कहा जाता है सावन में भगवान शिव की पूजा में कम से कम बेलपत्र और धतूरा जरूर रखना चाहिए और इस दौरान बैंगन नहीं खाना चाहिए. दरअसल शास्त्रों में बैंगन को अशुद्ध बताया गया है.
– कहा जाता है सावन में मांस-मदिरा से दूर रहना चाहिए क्योंकि इससे जीवहत्या का पाप लगता है.
– कहा जाता है सावन हरियाली का मौसम है इस कारण पेड़-पौधों को काटने से बचना चाहिए.

यह हैं तारीख – इस साल सावन 17 जुलाई से शुरू हो गया है और 15 अगस्त को सावन का महीना समाप्त हो जाएगा. ऐसे में आपको बताते हैं कब-कब है सोमवार.
सावन का पहला सोमवार – 22 जुलाई,
सावन का दूसरा सोमवार – 29 जुलाई
सावन का तीसरा सोमवार – 5 अगस्त
सावन का चौथा यानी अंतिम सोमवार – 12 अगस्त

जानें महिलाएं क्यों रखती हैं हरियाली तीज व्रत? माता पार्वती के 108वें जन्म से जुड़ी है घटना
सावन के महीने में पुण्य कमाने के लिए करें शिव मानस पूजा

Check Also

जानिए पुनर्जन्म का सत्य और सात हैरान करने वाली बातें

पुनर्जन्‍म एक ऐसा विषय है जिसके बारे में लोगों की हमेशा जानने की इच्छा रहती …