गणेशोत्सव : भगवान श्री गणेश को प्रिय है ये प्रमुख वस्तुए, जरूर जानें आप…

भारत में प्रतिवर्ष श्री गणेश उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है. सालों से भारत में इस त्यौहार को धूमधाम से मनाया जा रहा है. इस त्यौहार के आते ही हर कोई झूम उठता है. घर-घर, गली-गली, मोहल्ले-मोहल्ले श्री गणेश की स्थापना की जाती है. भाद्रपद माह की शुक्ल चतुर्थी को शुरू होने वाला गणेश उत्सव भाद्रपद माह में शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को समाप्त हो जाता है. श्री गणेश को पूर्णतः यह त्यौहार समर्पित होता है. देश के कोने-कोने में यह त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. गणेश चतुर्थी के दिन श्री गणेश की मूर्ति की स्थापना करने के साथ यह त्यौहार शुरू होता है. ऐसे में श्री गणेश की प्रिय चीजों के बारे में जानना भी बहुत जरूरी है.

श्री गणश से संबंधित वस्तुएं या चीजें…

प्रिय पुष्प : लाल रंग के फूल गणेश जी को बहुत पसंद है.

प्रिय वस्तु : दुर्वा (दूब), शमी-पत्र सबसे अधिक प्रिय है. दूर्वा गणेश जी को जरूर अर्पित करनी चाहिए.

प्रमुख अस्त्र : पाश और अंकुश ये दोनों श्री गणेश के प्रमुख अस्त्र है.

गणेश जी का वाहन : सिंह, मयूर और मूषक. आपको जानकारी के लिए बता दें कि सतयुग में सिंह, त्रेतायुग में मयूर, द्वापर युग में मूषक और कलियुग में उनका वाहन घोड़ा बताया गया है.

श्री गणेश जी का जप मंत्र : ॐ गं गणपतये नम: है. यह श्री गणेश का प्रमुख जप मंत्र है.

गणेश जी का पसंदीदा भोग : भगवान श्री गणेश को बेसन और मोदक के लड्डू बहुत पसंद हैं.

भगवान श्री गणेश गणेशजी की प्रार्थना के लिए : श्री गणेश के प्रार्थना के लिए आपको गणेश स्तुति, गणेश चालीसा, गणेशजी की आरती, श्रीगणेश सहस्रनामावली आदि का पथ करना चाहिए.

भगवान गणेश के 12 प्रमुख नाम : सुमुख, एकदंत, कपिल, गजकर्णक, लंबोदर, विकट, विघ्न-नाश, विनायक, धूम्रकेतु, गणाध्यक्ष, भालचंद्र, गजानन ये श्री गणेश के 12 प्रमुख नाम है. जबकि बप्पा और देवा के नाम से भी श्री गणेश को ख़ूब पहचाना जाता है.

भगवान गणेश की हैं पांच पत्नियां, जानिए गणेश जी के पूरे परिवार के बारे में...
जानिए कौन लेकर आया था श्री गणेश के लिए हाथी का सिर....

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …