सूर्यास्त के बाद क्यों नहीं करते कंघी

घर में प्रायः बड़े बुजुर्गों द्वारा लड़कियों को सूर्यास्त के बाद कंघी नहीं करने की बात कही जाती है. लेकिन आप यह नहीं जानते कि इसके पीछे का कारण क्या है. इसके पीछे कई कारण हैं . आइये जानते हैं कुछ कारणों के बारे में.

महिलाओं को सूर्यास्त के बाद बालों में कंघी करने से इसलिए मना किया जाता है ,क्योंकि ऐसा माना जाता है कि सूर्यास्त होने के बाद सभी बुरी आत्माएं बाहर आ जाती हैं, जो लम्बे बालों वाली को शिकार बना लेती है.कहा जाता है कि रात को हमेशा अपने बाल बांधकर रखना चाहिए . खुले बाल परिवार वालों के लिए शुभ नहीं माने जाते हैं.

इसका अलावा पूर्णिमा के दिन भी बालों पर कंघी करने से मना किया जाता है. यदि कोई लड़की पूर्णिमा की रात वाले दिन को खिडक़ी पर खड़े होकर बालों पर कंघी करती हैं तो वो खुद ही बुरी आत्माओं को न्योता देती है. टूटे हुए बालों को भी ध्यान से फेंकना चाहिए, क्योंकि ये बाल किसी गलत व्यक्ति के हाथों में पड़ने पर जादू टोने की आशंका भी रहती है. इसी तरह कंघी करते समय अगर आपके हाथों से कंघा छिटककर गिर जाए तो यह माना जाता है कि आपको जल्दी ही कोई बुरी खबर मिलने वाली हैं. इसके अलावा हमेशा इस बात का भी ध्यान रखें कि बाल झड़ने के बाद उन्हें घर में इधर उधर ना फेंके. ऐसा करने से घर में परिवार वालों के बीच झगड़े बढ़ते हैं.

जानिए हाथ में कलावा बांधने का कारण
रुमाल भी बदल सकता है आपकी किस्मत

Check Also

इन सात कारणों से किया गया दान का फल उल्टा होता है।

किसी भी व्यक्ति का जीवन सफल तभी है जब वह अपना कल्याण करे। भौतिक दृष्टि …