चाणक्य नीति

मुझे वह दौलत नही चाहिए जिसके लिए कठोर यातना सहनी पड़े,
सदाचार का त्याग करना पड़े या अपने शत्रु की चापलूसी करनी पड़े|

नटखट कान्हा माखनचोर नहीं वो है चितचोर
कन्यादान के अलावा ये दान भी माना जाता है महत्तवपूर्ण, आखिर क्यों?

Check Also

इन सात कारणों से किया गया दान का फल उल्टा होता है।

किसी भी व्यक्ति का जीवन सफल तभी है जब वह अपना कल्याण करे। भौतिक दृष्टि …