अखंड ज्योति मंदिर में साक्षात् विराजमान हैं श्री हनुमान

यू तो भगवान श्री हनुमान के अनेक मंदिर हैं लेकिन भगवान के कुछ मंदिर बड़े जागृत और निराले हैं। इन मंदिरों में श्री हनुमान जी अपने श्रद्धालुओं को दर्शन देते हैं। यही नहीं श्रद्धालु भी बाबा के दर्शन पाकर अभिभूत हो उठते हैं। ऐसा ही एक धाम है। उज्जैन के श्री बजरंगबली हनुमान मंदिर में जहां स्वयं राक्षसी बाबा श्री हनुमान के चरणों में विराजित हैं।

जी हां, कलियुग में श्री हनुमान जी के कई मंदिर हैं। जहां महाबलि श्री हनुमान अपने जागृत स्वरूप में श्रद्धालुओं को दर्शन देते हैं। यही नहीं चीरंजीव श्री हनुमान जी यहां दीव्य स्वरूप में विराजमान हैं। भगवान श्री हनुमान जी को श्रद्धालु मंगलवार, शनिवार और हनुमान जयंती पर दर्शन देते हैं।

खास बात यह है कि यहां मुकदमों के लिए विजय पाने के लिए श्रद्धालु पुष्प अर्पित करते हैं। भगवान को नारियल चढ़ाने और भगवान के चरणों में रोट का प्रसाद अर्पित करने से भगवान प्रसन्न होते हैं। यहां अखंड ज्योत सदियों से जल रही है इसलिए इसे अखंड ज्योति हनुमान मंदिर भी कहते हैं। यही नहीं भगवान श्री हनुमान अपने श्रद्धालुओं को मंगल दोष, शीघ्र विवाह और सभी कार्यों में सफलता का आशीर्वाद भी देते हैं।

शनिवार के दिन इन 3 चीजों को देखना, बरसती है शनि की कृपा
सूर्य आराधना के समय करे इन मंत्रो का उच्चारण

Check Also

महाभारत: इस कारण तीरों की शैया पर भीष्म को पड़ा था सोना, कर्म कभी नहीं छोड़ते पीछा

जीवन में कभी भी बुरे कर्म न करें अन्यथा किसी न किसी जन्म में कर्मफल …