तीर्थ पर जाकर न करें ऐसे काम अन्यथा आपके पुण्यों का हो जाएगा नाश

www.kedarnath-dham.blogspot.com
www.kedarnath-dham.blogspot.com

प्राचीनकाल से ही तीर्थ यात्रा करने की परंपरा रही है। तीर्थ यात्रा को पुण्य का सर्वोत्तम माध्यम माना गया है। तीर्थ से ही वैराग्य और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। माना जाता है की तीर्थ करने से पापों का क्षय और पुण्यों में वृद्धि होती है। क्या आप जानते हैं कुछ ऐसी मान्यताएं हैं जिनके अनुसार कुछ ऐसे काम हैं जो तीर्थ पर जाकर नहीं करने चाहिए अन्यथा आपके द्वारा किया गया पुण्य आपके साथ नहीं रहता उसका फल वहीं क्षय हो जाता है।

तीर्थ पर जाकर न करें ऐसे काम अन्यथा आपके पुण्यों का हो जाएगा नाश

* बाल नहीं धोने चाहिए।

* कपड़े नहीं धोने चाहिए।

* प्रशाद अथवा कुछ भी खाने के उपरांत हाथ नहीं छांटने चाहिए। 

* पैर गंदे होने पर उन्हें ऊपर-नीचे रगड़ना नहीं चाहिए।

* तीर्थ पर जाकर पापों का नाश होता है लेकिन तीर्थ पर कोई पाप हो जाए तो उसका प्रभाव कभी नष्ट नहीं होता। 

* अधार्मिक कार्य न करें।

* तीर्थ दर्शन करते समय प्रतिदिन स्नान करने के बाद दान और जाप करें। 

* जब किसी अन्य को पुण्य फल दिलवाने के लक्ष्य से तीर्थ में स्नान किया जाता है, ऐसी स्थिती में उस व्यक्ति को पुण्य फल का बारहवां भाग प्राप्त होता है।

* अपने कमाए पैसे से तीर्थ यात्रा करने पर पूर्ण फल प्राप्त होता है। अगर किसी दूसरे के पैसे से तीर्थ यात्रा की जाए तो उसे पुण्य का सोलहवां भाग प्राप्त होता है।

* तीर्थ पर तीर्थ की मंशा से न जा कर किसी अन्य काम के लिए जाया जाए तो केवल आधा पुण्य फल ही मिलता है।

कहां छुपा है गणेश जी का असली मस्तक?
जब दैत्यों के हाथों हार गए भगवान विष्णु

Check Also

श्री राम की यह आरती देगी आपको कीर्ति

आरती आपके द्वारा की गई पूजा में आई छोटी से छोटी कमी को दूर कर …