आइये जाने क्यों नहीं काटना चाहिए पीपल का वृक्ष

धर्मशास्त्रों में कुछ पेड़ों के काटने की साफ मनाही है. ऐसे वृक्षों में पीपल का स्थान सबसे ऊपर है. पीपल को न काटने के पीछे कई तरह की मान्यताएं हैं. आज हम बतायेगे की क्यों नहीं काटना चाहिए पीपल का पेड़ –

1-शास्त्रों में भी पीपल को हर तरह से उपयोगी माना गया है. इसके धार्मिक महत्त्व को आधार बनाकर इसे न काटने का नियम है.

2-ऐसा माना जाता है कि पीपल को विष्णु का वरदान मिला है कि जो कोई शनिवार को पीपल की पूजा  करेगा, उस पर लक्ष्मी की कृपा रहेगी. इसके उलट, पीपल को काटने वाले के घर की सुख-समृद्धि‍ नष्ट होने की आशंका रहती है. इससे लोग पीपल को काटने से बचते हैं.

3-ऐसी मान्यता है कि पीपल की पूजा से शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है. इसके अनुसार, अगर कोई पीपल के वृक्ष को नुकसान पहुंचाता है, तो उसे शनि का कोप झेलना पड़ सकता है.

4-शास्त्रों में तो यहां तक कहा गया है कि अगर कोई पीपल को कटते हुए देखता भी है, तो उसे भी शनिदोष लगता है. इससे मुक्ति के लिए पीपल की पूजा और दान आदि का विधान बताया गया है.

5-ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन छोड़कर पर्यावरण को लाभ पहुंचाने में पीपल का शायद ही कोई जोड़ हो. पीपल की इस महत्ता को ध्यान में रखकर भी शास्त्रों में इसे काटने की मनाही की गई.

इन चार राशि के लोगों पर मां लक्ष्मी की सदैव बनी रहती है कृपा
गाय पृथ्वी के समस्त प्राणियों की जननी है, जानिए हिन्दू धर्म में गाय माता का महत्त्व

Check Also

चैत्र नवरात्रि: दूसरे दिन जरूर करें मां ब्रह्मचारिणी की यह पावन आरती

चैत्र नवरात्रि का आरम्भ हो चुका है। ऐसे में कल यानी 14 अप्रैल को चैत्र …