आज है नवमी, जानिए पंचांग और शुभ मुहूर्त

आज के समय में लोग पंचांग देखते हैं और अपने दिन की शुरुआत करते हैं। तो आइए आज हम आपको बताते हैं आज का यानी 5 अप्रैल का पंचांग।

5 अप्रैल का पंचांग-

चैत्र कृष्ण नवमी, सोमवार, विक्रम संवत् 2078। सौर चैत्र मास प्रविष्टे 23, शब्वान 22, हिजरी 1442 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 05 अपै्रल 2021 ई॰। सूर्य उत्तरायण, उत्तर गोल, वसंत ऋतु।

राहुकाल प्रातः 07 बजकर 30 मिनट से 09 बजे तक। नवमी तिथि अर्धरात्रोत्तर 02 बजकर 19 मिनट तक उपरांत दशमी तिथि का आरंभ, उत्तराषाढ़ नक्षत्र अर्धरात्रोत्तर 02 बजकर 05 मिनट तक उपरांत श्रवण नक्षत्र का आरंभ।

शिव योग सायं 04 बजकर 53 मिनट तक उपरांत सिद्ध योग का आरंभ, तैतिल करण अपराह्न 02 बजकर 40 मिनट तक उपरांत वणिज करण का आरंभ। चंद्रमा प्रातः 08 बजकर 02 मिनट तक धनु उपरांत मकर राशि पर संचार करेगा।

सूर्योदय का समय 5 अप्रैल : सुबह 06 बजकर 07 मिनट पर

सूर्यास्त का समय 5 अप्रैल : शाम 06 बजकर 42 मिनट पर

आज का शुभ मुहूर्तः

अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 59 म‍िनट से 12 बजकर 49 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 30 मिनट से 03 बजकर 20 मिनट तक रहेगा। निशिथ काल मध्यरात्रि 12 बजकर 01 मिनट से 12 बजकर 46 मिनट तक। अमृत काल रात 07 बजकर 41 मिनट से 09 बजकर 17 मिनट तक रहेगा। गोधूलि बेला शाम 06 बजकर 29 मिनट से 06 बजकर 53 मिनट तक रहेगा। सर्वार्थ स‍िद्धि योग 6 अप्रैल सुबह 02 बजकर 05 म‍िनट से सुबह 06 बजकर 05 म‍िनट तक।

आज का अशुभ मुहूर्तः

राहुकाल शाम 07 बजकर 30 म‍िनट से 09 बजे तक। सुबह 10 बजकर 30 म‍िनट से 12 बजे तक यमगंड रहेगा। दोपहर 01 बजकर 30 म‍िनट से 03 बजे तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल दोपहर 12 बजकर 49 म‍िनट से 01 बजकर 39 म‍िनट तक। इसके बाद 03 बजकर 20 म‍िनट से 04 बजकर 10 म‍िनट तक।

सोमवार को शिव योग में करें भोलेनाथ की पूजा, जानिए पंचांग
इस दिन है पाप मोचनी एकादशी, जानिए व्रत का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Check Also

चैत्र नवरात्रि की रामनवमी के अगले दिन है कामदा एकादशी, बन रहें हैं पूजा के सात शुभ मुहूर्त

सनातन धर्म में एकादशी का बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान है. मान्यता है कि एकादशी का …