महिलाएं भी कर सकेंगी शनि शिंगणापुर मंदिर में पूजा

phpThumb_generated_thumbnail-2-300x214औरंगाबाद। महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर उठा विवाद अब शांत हो गया है। लंबे विवाद के बाद मंदिर के ट्रस्ट ने फैसला लिया है कि महिलाएं भी मंदिर में पूजा कर सकती हैं।

ट्रस्ट ने शनि भगवान की पूजा करने के लिए महिलाओं को आमंत्रित किया है और कहा है कि महिलाएं भी वैसे ही पूजा करेंगी जैसे सभी लोग करते हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं को यहां अब कोई नहीं रोकेगा वो अपनी पूजा कर सकती हैं। 
 
इस मामले को लेकर सहारनपुर जिले के देवबंद में महाकालेश्वर आश्रम के स्वामी दीपांकर ने मंदिर के ट्रस्टियों और सीईओ से मुलाकात की थी। उन्होंने गुरुवार को बताया कि शनि मंदिर में महिलाओं को पूजा करने की इजाजत दे दी गई है।
 
पुरुष भी नहीं कर पाएंगे तिलक
अभी तक सिर्फ पुरुष ही शनिदेव की शिला पर तिलक करते थे लेकिन फिलहाल उन्हें तिलक करने से रोक दिया गया है। साथ ही साथ महिलाओं को भी तिलक करने की इजाजत नहीं दी गई है।
 
 दीपांकर ने बताया कि भविष्य में ट्रस्ट और आस पास के गांव के लोग मिलकर यह तय करेंगे कि 400 साल पुरानी इस परंपरा को हटाया जा सकता है या नहीं। लेकिन फिलहाल वर्तमान में शनि देव की शिला पर सिर्फ पुजारी को ही तिलक करने का अधिकार होगा।
मिस्त्र का पहला व्यक्ति जिसने देवत्व को पहचाना
अनुशासन के बिना विकास नहीं

Check Also

इस पूजा से भगवान राम को मिली थी लंका पर विजय…

शास्त्रों में शिवलिंग का पूजन सबसे ज्यादा पुण्यदायी और फलदायी बताया गया है। रावण के साथ युद्ध …