हे राम! यहां इन्सान की ‘कैद’ में हैं शंकर भगवान

एजेंसी/ phpThumb_generated_thumbnail (19)बड़ी चौपड़ पर जारी मेट्रो काम के चलते त्रिपोलिया बाजार के नुक्कड़ पर स्थापित भोले बाबा एक माह से मेट्रो की कैद में हैं। मेट्रो का काम शुरू होते ही सड़क के बीच स्थापित प्राचीन गौरीशंकर मंदिर के चारों ओर बेरिकेड्स लगा दिए गए हैं। इस रास्ते पर बेरिकेड्स लगे होने से तब से आम लोगों का मंदिर में जाना बंद कर दिया गया है।
 
आम आदमी को बेरिकेड्स  के अंदर प्रवेश करने की अनुमति नहीं हैं। कई सालों से पूजा-अर्चना करने वाले श्रद्धालुओं को भी भीतर प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। एेसे में श्रद्धालुओं को अपने आराध्य के दर्शकों के लिए तरसना पड़ रहा है।
 
दूसरे मंदिर में कर लो दर्शन
श्रद्धालुओं का कहना है कि मंदिर में अपने आराध्य के दर्शन के लिए प्रवेश करने की कोशिश की तो गार्ड ने कहा, मंदिर बंद है, अंदर जाकर क्या करोगे? जब बाहर से दर्शनों की बात कही तो कहा कि इस मंदिर में क्या खास है। 
 
शिवजी के कई मंदिर हैं, दूसरे मंदिर में जाकर दर्शन कर लो। मंदिर को कुछ नहीं हुआ है, सुरक्षित है। दुकानदार कैलाशचंद ने बताया कि कई सालों से मंदिर में पूजा करते आ रहे थे, लेकिन जब से मेट्रो का काम शुरू हुआ है, अंदर प्रवेश ही नहीं करने दिया जाता। मजबूरीवश बाहर से ही हाथ जोड़ लेते हैं। 
  
गार्ड ने बताया कि बेरिकेड्स के अंदर किसी भी सिविलियन को जाने की अनुमति नहीं है। मंदिर में जो भी पूजा करने के लिए आता है, उससे माला एवं अगरबत्ती बाहर ही ले लेते हैं। केवल सुबह पुजारी को ही अंदर जाने की इजाजत है।
 
अंदर जाना है तो अनुमति लाओ
यहां तैनात गार्ड एवं सुपरवाइजर ने कहा कि आपको अंदर जाना है तो मेट्रो अधिकारियों से लिखित में अनुमति लेकर आनी होगी। अनुमति पत्र के बिना आपको अंदर प्रवेश नहीं जाने दिया जाएगा। मंदिर में जाने के लिए केवल दो लोगों को पास दिए गए हैं।
 
इनका कहना है
यहां मेट्रो का काम चल रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से आम लोगों को इस क्षेत्र में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दे सकते। केवल पुजारी को हमने पूजा के लिए निर्धारित समय के लिए अनुमति दे रखी है। वैसे पौष बड़ा कार्यक्रम में हमने लोगों को अंदर आने दिया था।
 
-अखिलेश सक्सेना, जरनल मैनेजर, प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर, जयपुर मेट्रो रेल कॉरपोरेशन
 
जब से बड़ी चौपड़ पर मेट्रो का काम शुरू हुआ, तब से जयपुर मेट्रो प्रशासन ने मंदिर में आम लोगों पर पूजा के लिए प्रवेश पर रोक लगा दी है। इससे वर्षों से पूजा कर रहे लोग पूजा से वंचित हो गए। मुझे भी पूजा के लिए केवल आधे घंटे के लिए अंदर जाने दिया जाता है।
हर जगह मौजूद हैं संगीत की देवी और संगीत
यह मंदिर है कुछ खास, यहां मां काली खाती हैं नूडल्स और मोमोज

Check Also

शिवरात्रि साधना : इस उपाय से मिलेंगे जीवन के सातों सुख

मानव जीवन में सात प्रकार के सुख बताए गए हैं। जिनके होने पर मनुष्य अपने …