राशि अनुसार जपिए ये मंत्र, धन-धान्‍य से भर देंगी महालक्ष्‍मी…

हिन्दू धर्म के अनुसार धन की देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने से धन की वर्षा होती है, दरिद्रता दूर होती है. जानिए राशि अनुसार क्या है लक्ष्मी मंत्र, जिससे देवी होती हैं प्रसन्‍न्‍ा

मेष
मां लक्ष्मी के ‘श्रीं’ मंत्र का जाप करना चाहिए. इस शब्द के जाप से देवी प्रसन्न होती हैं. संभव हो तो 10008 बार जाप करें.

वृषभ
ॐ सर्वबाधा विर्निमुक्तो धनधान्यसुतान्वित:, मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशय:, इस मंत्र की रोज एक माला जाप करें.

मिथुन
ॐ श्रीं श्रीये नम:, इस मंत्र का रोज जाप करें.

कर्क
ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात् ॐ, इस मंत्र का रोज जाप करें.

सिंह
ॐ श्रीं महालक्ष्म्यै नम: का जाप करें.

कन्‍या
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं महालक्ष्मी नम:, मंत्र का एक माला जाप करें.

तुला
ॐ श्रीं श्रीय नम:, का जाप करें.

वृश्चिक
ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नम:, इस मंत्र के जाप से महालक्ष्‍मी प्रसन्‍न होती हैं.

धनु
ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:, मंत्र का जाप करें.

मकर
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं सौं ॐ ह्रीं क ए ई ल ह्रीं ह स क ह ल ह्रीं सकल ह्रीं सौं ऐं क्लीं ह्रीं श्री ॐ, मंत्र का जाप करें.

कुंभ
ऐं ह्रीं श्रीं अष्टलक्ष्मीयै ह्रीं सिद्धये मम गृहे आगच्छागच्छ नमः स्वाहा, मंत्र का जाप करने से देवी प्रसन्न होंगी.

मीन
ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:, नित्य दो माला जाप करें.

देश में एक मंदिर ऐसा भी, जहां महिला पंडित कराती हैं पूजा...
यहां हैं देशभक्ति को समर्पित 'भारत माता मंदिर'

Check Also

श्री राम की यह आरती देगी आपको कीर्ति

आरती आपके द्वारा की गई पूजा में आई छोटी से छोटी कमी को दूर कर …