नाग पंचमीः सांप ऐसा करता हुआ दिखे मतलब आप होने वाले हैं धनवान

श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नागपंचमी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन देशभर के शिव मंदिरों में दूध और जल का लोटा हाथ में थामें शिव मंदिरों के बाहर भक्तों की लंबी कतारे देखने को मिल जाती हैं। सनातन धर्म की धार्मिक पुस्तकों में नागों को देवताओं के समान ही पूजनीय बताया गया है। आइए जानते हैं, कब किस अवस्था में नाग का दिख जाना हमें जल्द धनवान बन जाने और सफलता प्राप्ति के संकेत देता है…

नाग बनाते हैं धनवान
शास्त्रों में नागों के बारे में कहा गया है कि जो नाग अपने मुख में विष को धारण करते हैं, वे व्यक्ति को लक्ष्मी के समान धनवान बनाने की क्षमता रखते हैं।

ऐसे मिलती है लक्ष्मी कृपा
कहते हैं जिस जमीन के अंदर नागों का बसेरा रहता हो, उस जमीन के ऊपर घर बनाकर रहने से लक्ष्मी माता की कृपा सदैव बनी रहती है। इसका कारण बताया जाता है कि ऐसी जमीन के ऊपर बने घरों में किसी भी तरह का वास्तुदोष नहीं रहता है।

नाग का ऐसा व्यवहार
मधुश्रावणी व्रत कथा के अनुसार, यदि नाग आपके घर के द्वार पर तीन बार अपनी पूंछ पटक दे तो समझना चाहिए कि आपके घर धनलक्ष्मी का आगमन होनेवाला है।

नाग दंश से मुक्ति का उपाय
भविष्य पुराण में नागों को गरुड़ देवता का सौतेला भाई बताया गया है। साथ ही नागों को खुश करने के लिए नागपंचमी के दिन धान के लावा और दूध से नागों की पूजा करने के लिए बताया गया है। इसके अनुसार, ऐसा करनेवाले व्यक्ति के परिवार को नागदंश का भय नहीं रहता।

शिवलिंग पर चढ़ता हुआ सांप
अगर आपको किसी मंदिर में शिवलिंग पर सांप लिपटा हुआ या चढ़ता हुआ दिख जाए तो यह इस बात का संकेत माना जाता है कि आपको कहीं से धनलाभ होनेवाला है।

पेड़ पर चढ़ता हुआ या लटका सांप
अगर आपको पेड़ पर चढ़ता हुआ या लटका हुआ सांप मिल जाए तो ज्योतिष में इसे बहुत ही शुभ माना जाता है। कहते हैं सांप का ऐसा करते हुए दिख जाना इस बात का संकेत होता है कि आप जल्द ही तरक्की पानेवाले हैं। आपकी उन्नति के द्वार जल्द खुलनेवाले हैं।

सावन में दिखे ये पक्षी तो होता है लाभ
नागपंचमी पर घर के बाहर लिखें 1 नाम, 100 कोस दूर रहेंगे सांप

Check Also

दीप और प्रकाश का उत्सव है कार्तिक पूर्णिमा

कार्तिक पूर्णिमा एक प्रसिद्ध उत्सव है जिसे ‘त्रिपुरी पूर्णिमा” या ‘त्रिपुरारी पूर्णिमा” के रूप में भी …