भगवान शिव के इस मंदिर में खुद अश्वत्थामा करते हैं पूजा

देवों के देव कहे जाने वाले भगवान शिव के समान कोई नहीं हैं. वह सबसे अद्भुत है यही वजह है कि भगवान शिव को देवताओं का देवता माना जाता है. सावन का महीना दस्तक देने को है और इसमें भगवान शिव की ख़ास तरीके से पूजा की जाती हैं. आज हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान शिव के एक ऐसे मंदिर के बारे में जिसके चमत्कार के बारे में सुनकर आप हैरान हो जायेंगे.वैसे तो भगवान शिव के कई चमत्कारी मंदिर हैं लेकिन इस मंदिर का रहस्य आपको हैरान कर देगा. हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 150 किलोमीटर की दूरी पर कानपुर नगर के शिवराजपुर में मौजूद खेरेश्वरधाम मंदिर के बारे में जो शिवराजपुर में गंगा नदी से लगभग 2 किलोमीटर दूर स्थित है. इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां हर रोज अश्वत्थामा भगवान शिव की पूजा करने आते हैं.

हो सकता है इस बात पर आपको यकीन न हो लेकिन जब मंदिर के पुजारी से इस बात को जानने की कोशिश की, तो उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने इस सत्य से पर्दा हटाने का प्रयास किया और वह मंदिर में देर रात रुक गए लेकिन इस दौरान उनकी आँखों की रौशनी चली गई. इस घटना के बाद किसी ने कभी इस प्रकार की हिम्मत करने की कोशिश नहीं की.

बताया जाता है कि मंदिर में रोजाना द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा पूजा करने के लिए आते हैं. इस रहस्य का अंदाज़ा इस बात से लगाया कि हर रोज सुबह मंदिर में भोलेनाथ के मुख्य शिवलिंग की पूजा-अर्चना पहले ही हो चुकी होती है और ताजे फूलों के साथ शिवलिंग का अभिषेक भी हो चुका होता है. ऐसा कहा जाता है कि यह जो भी भक्त आता है वो कभी भी खाली हाथ नहीं जाता है.

पापों से मुक्ति दिलाते हे भोलेनाथ, भरते है जीवन में अपार खुशिया...
रक्षाबंधन पर नहीं रहेगा भद्रा का साया, राखी बांधने के लिए यह है सबसे अच्छा मुहूर्त…

Check Also

मंगल प्रदोष व्रत की जानिए पौराणिक कथा

मंगलवार के दिन आने वाले प्रदोष व्रत को मंगल प्रदोष या भौम प्रदोष कहते हैं। इसकी …