जन्माष्टमी पर भूलकर भी न करें ये गलतियां

हर बार की तरह इस साल भी भगवान श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जायेगा. खास बात यह है कि जन्माष्टमी के लिए श्री कृष्ण का जन्मस्थल मथुरा कई दिनों पहले ही सज जाता है. बता दें कि मथुरा में श्री कृष्ण के कई मंदिर है जिसमें भारी मात्रा में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है.

ऐसा कहा जा रहा है कि इस बार की जन्माष्टमी पर बहुत ही ख़ास संयोग बन रहा है. इस साल जन्माष्टमी का 2 सितंबर को त्रिपुष्कर योग बना हुआ है और ऐसे में जो भी कार्य किया जाए पूरा होता है और आपको अधिक फल की प्राप्ति होती है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि जन्माष्टमी के दौरान आप भूलकर भी ये काम न करें वरना आपको भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है.

1. ऐसा कहा जाता है कि जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण की घर में राखी पुरानी मूर्ति की भी पूजा करना चाहिए.

2. जन्माष्टमी पूजा के दौरान भगवान के भोग में तुलसी का पत्ता जरूर होना चाहिए, शास्त्रों के अनुसार बिना तुलसी के भगवान प्रसाद स्वीकार नहीं करतें.

3. इस दिन घर में मांस, मछली और मदिरा न लाये और सेवन करें. जन्माष्टमी के सात्विक भोजन करना चाहिए और व्रत रखें.

4. जन्माष्टमी के व्रत को व्रतराज भी कहा गया है, इस दिन घर में लक्ष्मी का वास होता है ऐसे में आप घर में किसी प्रकार का विवाद न करें, वरना धन की देवी रुष्ट हो सकती है.

5. शास्त्रों के अनुसार जन्माष्टमी,शिवरात्रि, नवरात्र के दिनों में संयम का पालन करना चाहिए. इन दिनों में यौन संबंध और काम भाव पर नियंत्रण रखना चाहिए.

हनुमान जी के इन मंत्रों का करें जाप, फिर होगा ये चमत्कार
ये हैं भगवान राम के राज्य की एक विचित्र घटना

Check Also

नवरात्रि : यंहा माता पार्वती ने लगाया था वृक्ष, जो आज भी है सुरक्षित

वैसे तो माता पार्वती ने कई वृक्ष भिन्न भिन्न स्थानों पर लगाए थे जिनमें से …