हनुमान बाबा ने महिलाओं को दिया ये बड़ा वरदान… बस पति से छिपकर करें महिलाये ये काम

आज के समय ऐसा कोई भी नहीं जिसे पैसे की जरुरत नहीं, दिन रात इन्सान अच्छे सुख सुवधा के लिए इन्सान पैसे कमाता और महनत करता है. मगर हर इन्सान की एक जैसी किस्मत नहीं होती. मगर आज हम आपको ऐसा सरल उपाय बताने जा रहे जिससे आप भी मालामाल बन सकते है. हर इंसान की श्रद्धा ईश्वर पर होती है और इसी विश्वास के कारण वह सभी ईश्वर की अराधना करते हैं। भगवान भी सबकी सुनते हैं और वह अपने भक्तों की सभी मनोकामनाओं को पूरी करते हैं लेकिन वह व्यक्ति सच्चे दिल से ईश्वर की आराधना करता है तो उसे बहुत अच्छा फल मिलता है जिसकी वह कल्पना भी नहीं कर सकता है।हनुमान बाबा ने महिलाओं को दिया ये बड़ा वरदान… बस पति से छिपकर करें महिलाये ये काम

हर घर में रहने वाली महिला की ये कामना होती है की अष्टलक्ष्मी हमेशा उसके घर में वास करे इस वजह से वह अपनी घर-गृहस्थी में सेविंग को बहुत अहमियत देती है लेकिन हर बार पैसा बचे यह सम्भव नहीं हो पता है। ऐसे में कई बार हालात ऐसे हो जाते हैं की दो वक्त की रोटी चलाने में भी मुश्किल होती है। तो आज हम आपको एक ऐसा उपाय बताने जा रहे है, जिसे यदि कोई पत्नि अपने पति से छुपाकर केवल मंगलवार को करेगी तो उसके घर की किस्मत खुल जाएगी।

घर की महिला जब मंगलवार की सुबह जमीन पर पहला पैर रखे तो कल्पना करे अष्टलक्ष्मी और हनुमान जी उसके साथ हैं और उसके बाद शुद्ध होकर पीपल के पेड़ पर जल अर्पित करे।यह करने के बाद पीपल के 3 साबूत पत्ते तोड़कर घर के मंदिर में हनुमान जी के सामने रख दें और फिर हर पत्ते के ऊपर एक-एक सिक्का और चावल का एक-एक दाना रख दें।इसी के साथ उसमे कुमकुम, हल्दी और अबीर से पूजन करते रहे और गुलाब की सुगंध वाली 5 अगरबत्ती लगाएं। हनुमान जी की आरती करें और वहां रखी सारी सामग्री को वहीं हनुमान जी के पास रहने दें।

अब शाम को पुन: पवनपुत्र के सामने दीपक लगाएं और आरती करें और उसके बाद पत्तों के ऊपर रखें चावल के तीनों दानों को उठाकर चुपके से पति के पर्स में रख दें। इस संबंध में कुछ भी पता लगना चाहिए।

अगर बनना चाहते हैं करोड़ो के मालिक तो बुधवार सुबह कर लें यह काम
नौ दिन होगी इस देवी की साधना, 21 को मनेगी शाकंभरी जयंती

Check Also

नवरात्रि के चौथे दिन ऐसे करें माता कुष्मांडा का पूजन, जानें उनके स्वरूप

आप सभी जानते ही होंगे नवरात्रि का पर्व इन दिनों आरम्भ हो चुका है और …