शाकंभरी जयंती पर सुबह जरूर करें यह आरती, हर मनोकामना होगी पूरी

कहते हैं शाकंभरी देवी दुर्गा के अवतारों में एक होती है और दुर्गा के सभी अवतारों में से रक्तदंतिका, भीमा, भ्रामरी, शताक्षी तथा शाकंभरी प्रसिद्ध हैं.माँ शाकंभरी जयंती है और उनकी जयंती के दिन उनकी यह आरती जरूर करनी चाहिए. जी हाँ, आज हम आपके लिए उनकी आरती लेकर आए हैं माँ दुर्गा के सामने कर सकते हैं और अपनी मनोकामना पूरी करवा सकते हैं. आइए बताते हैं आरती.

आरती –
हरि ॐ श्री शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
ऐसी अद्भुत रूप हृदय धर लीजो  
शताक्षी दयालु की आरती कीजो
तुम परिपूर्ण आदि भवानी मां, सब घट तुम आप बखानी मां
शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
 
तुम्हीं हो शाकुम्भर, तुम ही हो सताक्षी मां
शिवमूर्ति माया प्रकाशी मां,
शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
 
नित जो नर-नारी अम्बे आरती गावे मां
इच्छा पूर्ण कीजो, शाकुम्भर दर्शन पावे मां
शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
जो नर आरती पढ़े पढ़ावे मां, जो नर आरती सुनावे मां
बस बैकुंठ शाकुम्भर दर्शन पावे
शाकुम्भरी अंबाजी की आरती कीजो. 

अगर ऐसा होता है तो 5 नहीं 14 पतियो की पत्नी होती द्रोपदी
घर में माँ लक्ष्मी को बसाना चाहते हैं तो लेकर आए उनकी यह तस्वीर

Check Also

नवरात्रि : यंहा माता पार्वती ने लगाया था वृक्ष, जो आज भी है सुरक्षित

वैसे तो माता पार्वती ने कई वृक्ष भिन्न भिन्न स्थानों पर लगाए थे जिनमें से …