होली की आग, भस्म और धूल, बुरी आत्माओं को रखती हैं दूर…

ऐसा माना जाता है कि होली की बची हुई अग्नि और भस्म को अगले दिन प्रात: घर में लाने से घर को अशुभ शक्तियों से बचाने में सहयोग मिलता है तथा इस भस्म का शरीर पर लेपन भी किया जाता है।
भस्म का लेपन करते समय निम्न मंत्र का जाप करना कल्याणकारी रहता है-
वंदितासि सुरेन्द्रेण ब्रह्मणा शंकरेण च।
अतस्त्वं पाहि मां देवी! भूति भूतिप्रदा भव।।
विशेष : सेंककर लाए गए धान को खाने से निरोगी रहते हैं।
उर्मिला
होली के दिन यह कर लिया तो कारोबार इतना बढ़ेगा कि तिजोरी संभालना मुश्किल हो जाएगा

Check Also

वास्तु शास्त्र: यदि आपके बच्चे को बार -बार लगती है चोट, तो करें यह उपाय

चंचल होना बच्चों का एक स्वाभिक गुण होता है. परन्तु कुछ बच्चे इस चंचलता के …