शनि के प्रकोप से चाहते बचना तो ऐसे करें कालभैरव की पूजा

धर्म ग्रंथों के अनुसार हर महीने कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि को कालाष्टमी व्रत रखा जाता है. इस दिन कालभैरव की पूजा की जाती है. कालभैरव भगवान शिव के ही अवतार माने जाते हैं. कहा जाता है कि इस दिन जो भी भक्त कालभैरव की पूजा करता है वो नकारात्मक शक्तियों से दूर रहता है.

ऐसी तिथि, जो कभी खत्म नहीं होती: अक्षय तृतीया
शिव जी को खुश करने के लिए इस मुहूर्त में करें पूजा

Check Also

जानिए क्या कहती हैं भोलेनाथ के मस्तक पर बनी तीन रेखाएं…

हर साल आने वाला महाशिवरात्रि का पर्व इस साल भी आने वाला है। यह पर्व शिवभक्तों के …