मां सिद्धिदात्री का महत्व और पूजन विधि

नौवें स्वरूप में मां सिद्धिदात्री की उपासना की जाती है, जो दरअसल देवी का पूर्ण स्वरूप है. मान्यता है कि केवल इस दिन मां की उपासना करने से सम्पूर्ण नवरात्रि की उपासना का फल मिलता है. यह पूजा नवमी तिथि पर की जाती है. महानवमी पर शक्ति पूजा भी की जाती है, जिसको करने से निश्चित रूप से विजय की प्राप्ति होती है. माना जाता है कि नवमी के दिन महासरस्वती की उपासना करने से विद्या और बुद्धि की प्राप्ति होती है.

कौन हैं भगवान नृसिंह और क्या है इनकी महिमा
गणपति की आराधना, मिलेगा मनचाहा वरदान: बुधवार के दिन

Check Also

मनुष्य के लिए अन्न के दान को सबसे बड़ा दान बताया गया है: धर्म

आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियो में मनुष्य के लिए बहुत उपयोगी बातें बताई हैं। चाणक्य बहुत …