बृहस्पति का क्या महत्व, ये इसके शुभ और अशुभ प्रभाव

बृहस्पति को गुरु और मंत्रणा का कारक माना जाता है. पीला रंग, स्वर्ण, वित्त और कोष, कानून,धर्म,ज्ञान,मंत्र,ब्राह्मण और संस्कारों को नियंत्रित करता है. शरीर में पाचन तंत्र,मेदा और आयु की अवधि को निर्धारित करता है.पांच तत्वों में आकाश तत्त्व का अधिपति होने के कारण इसका प्रभाव बहुत ही व्यापक और विराट होता है. महिलाओं के जीवन में विवाह की सम्पूर्ण जिम्मेदारी बृहस्पति से ही तय होती है.

जवानों के लिए आस्था का केंद्र है बनासकांठा के नाडेश्वरी माता का मंदिर
कौन हैं भगवान नृसिंह और क्या है इनकी महिमा

Check Also

आज है शनि मार्गी, जानिए किन राशि वालोँ पर होगी कृपा

शनि 29 सितंबर, मंगलवार को सुबह 10 बजकर 40 मिनट वक्री से मार्गी हो गए …