बैकुण्ठ चतुर्दशी और इसका महत्व: कार्तिक माह

कार्तिक माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को वैकुण्ठ चतुर्दशी के नाम से जाना जाता है. इस शुभ दिन को भगवान शिव तथा विष्णु की पूजा की जाती है. इस त्योहार को वैकुण्ठ चौदस के नाम से भी जानी जाती है. इस दिन भक्त व्रत रखकर भगवान विष्णु तथा भगवान शिव दोनों की आराधना करते हैं. यह व्रत कार्तिक माह के शुक्ल चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है. इस वर्ष यह  हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है. देश के विभिन्न भागों में इस तिथि को विशेष पूजा-आराधना की जाती है. सामान्यतः पूजा का समय निशित काल (मध्य रात्रि) को किया जाता है.

बटुक भैरव जयंती, क्या है पूजा विधि
गुड़ी पड़वा: पौराणिक कथा और शुभ मुहूर्त

Check Also

भूलकर भी न करें इस तरह गायत्री मंत्र का जप, जानें 7 खास बातें

शास्त्रों में गायत्री मंत्र का बहुत महत्व होता है। गायत्री जयंती ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष …