होली, श्री कृष्ण-राधा से जुड़ी वजह

सौम्य और सुंदर दिखने वाले कृष्ण नीले रं के दिखने लगे थे. कृष्ण इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रहे थे कि अब उनका गोरापन कही लिप्त हो चुका है. उन्हें लगने लगा कि उनका ये रूप ना राधा को पसंद आएगा ना गोपियों को. इसकी वजह से वो सबसे दूर हो सकते हैं. जिसके बाद माता योशादा ने कृष्ण को सलाह दी कि वो राधा को भी उसी रंग में रंग डालें जिसमें वो उसे देखना चाहते हैं. तब कृष्ण, राधा के पास गए और उनके ऊपर ढेर सारा रंग उड़ेल दिया. उस एक घटना के बाद दोनों एक दूसरे के प्यार में डूब गए और तभी से इस दिन को होली के उत्सव के रूप में मनाया जाने लगा.

9 भोग लगाकर प्रसन्न करें माता के 9 स्वरूप
उपाय से दूर होंगी चंद्रमा से जुड़ी समस्याएं

Check Also

मंदिर की नींव खोदने में प्रयोग किया जाएगा चांदी का फावड़ा, चांदी की कन्नी से ईंट पर लगाई जाएगी सीमेंट

रामनगरी अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का बरसों बाद शुरू होने जा रहा …