गोपनीय रखें अपनी मनोकामना: गुप्त नवरात्र

चार नवरात्र होते हैं, जिनमें से दो गुप्त नवरात्र होते हैं. गुप्त नवरात्रि विशेष तौर पर गुप्त सिद्धियां पाने का समय होता है. आमतौर पर लोग दो नवरात्रों के बारे में जानते हैं- चैत्र या वासंतिक नवरात्र और आश्विन या शारदीय नवरात्र. इसके अलावा दो और नवरात्र भी हैं. जिनमें विशेष कामनाओं की सिद्धि की जाती है. कम लोगों को इसका ज्ञान होने के कारण या इसके छिपे हुए होने के कारण इसको गुप्त नवरात्र कहते हैं.

महापर्व छठ का त्योहार: किन बातों का ख्याल रखना बेहद जरूरी
इंदिरा एकादशी: हर तरह के कष्ट से मुक्ति

Check Also

29 सितंबर से न्याय के देवता शनि देव की सीधी चाल का प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा: धर्म

राहु केतु के बाद अब न्याय के देवता शनि भी अपनी चाल बदल रहे हैं। …