कई शुभ संयोग एक साथ, ज्योतिष नजरिए से खास: शनि जयंती

हिन्दू पंचांग की गणना के अनुसार हर दिन कुछ शुभ तो कुछ अशुभ संयोग बनते रहते हैं। जहां ग्रह नक्षत्रों के शुभ संयोग से जीवन में परेशानियां कम होती है वहीं अशुभ संयोग बनने से समस्याएं बढ़ने लगती हैं। अगले माह 3 जून को एक साथ कई शुभ योग बन रहे हैं। 3 जून का शनि जयंती है इस दिन सोमवार है और अमावस्या भी, जिसके कारण सोमवती अमावस्या का का संयोग बनेगा। इसके अलावा सोमवार, 3 जून को वट सावित्री व्रत भी है। सौभाग्यशाली महिलाओं के लिए इस वट सावित्री व्रत का खास महत्व होता है। इसमें सुहागिन महिलाएं पति की लंबी आयु की कामना के लिए वट की पूजा करती है। 3 जून को ही सर्वार्थ सिद्धि योग भी बनेगा। ज्योतिष में इस योग का बहुत महत्व होता है। इस योग में किए जाने वाले किसी भी शुभ कार्य में सफलता मिलने की संभावना ज्यादा रहती है।

 

इस दिन न तोड़े तुलसी के पत्ते, जानें पौधे का धार्मिक महत्व
अपरा एकादशी, पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि: धर्म

Check Also

चाणक्य की ये पांच बाते याद रख, सफलता की सीढ़ियां चढ़ सकते है आप

दुनिया में सभी लोग सफलता पाने के लिए बेताब रहते हैं लेकिन सफलता कभी कभी …