12 अगस्त 2019 : श्रावण मास का अंतिम सोमवार, जानिए शुभ संयोग और राशि अनुसार पूजन

श्रावण का चौथा और अंतिम सोमवार 12 अगस्त 2019 को है। इस दिन शिव-पार्वती साथ-साथ पृथ्वी पर विचरण करेंगे। 
अत: इस दिन रुद्राभिषेक करने से सारे मनोरथ सफल होंगे।

इस दिन सोम प्रदोष व्रत होने से यह दिन अतिशुभ रहेगा।

सूर्योदय से लेकर मध्य रात्रि 12:45 मिनट तक सर्वार्थ सिद्धि योग भी है।

श्रावण मास के अंतिम सोमवार के दिन शिव पूजा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। इतना ही नहीं यदि कुंडली में ग्रह दोष हों और कार्यों में परेशानियां आ रही हैं तो राशि अनुसार देवों के देव महादेव के पूजन से सभी कष्टों का अंत होता है।
12 राशियां और शिवजी का पूजन…
मेष राशि के जातकों को श्रावण मास के अंतिम सोमवार पर शिवजी को आंकड़े का फूल चढ़ाना चाहिए। चूंकि इस राशि का स्वामी मंगल है इसलिए शिवलिंग पर लाल फूल भी अर्पित करना चाहिए।
वृषभ राशि के जातकों का स्वामी शुक्र है। शुक्राचार्य को असुरों का गुरु माना जाता है। शुक्राचार्य भी शिवजी के भक्त थे अतएवं शुक्र को प्रसन्न करने के लिए श्रावण मास का अंतिम सोमवार शिवलिंग पर दूध और जल चढ़ाएं।
मिथुन राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवलिंग पर 5 बिल्वपत्र चढ़ाएं। मिथुन राशि के लोगों के स्वामी है बुध। बुध को प्रसन्न करने के लिए गाय को हरी घास खिलाएं। बुधवार को ही किसी किन्नर को धन का दान करें।
कर्क राशि वाले जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवजी को चंदन एवं चावल चढ़ाएं। कर्क राशि का स्वामी है चंद्र। शिवलिंग पर जल और दूध भी चढ़ाना चाहिए। चंद्र से संबंधित वस्तु जैसे दूध का दान करना चाहिए।
सिंह राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार की शाम शिवलिंग के पास घी का दीपक जलाएं। इस राशि का स्वामी सूर्य है। सूर्य देव की भी पूजा करें।
कन्या राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवलिंग पर 11 बिल्व पत्र अर्पित करें। कन्या राशि का स्वामी ग्रह है बुध। अत: शिवजी के पुत्र भगवान गणेश को दूर्वा चढ़ाएं।
तुला राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवजी को माखन-मिश्री का भोग लगाएं। इस राशि का स्वामी शुक्र ही है। शुक्र को प्रसन्न करने के लिए जरूरतमंद व्यक्ति को वस्त्रों का दान करें।
वृश्चिक राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवलिंग पर कच्चा दूध अर्पित करें। वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है। अत: शिवजी के अंशावतार हनुमानजी को सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाएं। मसूर की दाल किसी जरूरतमंद व्यक्ति को दान करें। शिवलिंग पर लाल फूल चढ़ाएं।
धनु राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवलिंग पर बिल्व पत्र एवं आंकड़े के फूल चढ़ाएं। इस राशि के स्वामी देवताओं के गुरु बृहस्पति हैं। शिवलिंग पर पीले रंग की वस्तुएं जैसे पीले फूल चढ़ाएं, प्रसाद में चने की दाल और बेसन के लड्डू का भोग लगाएं।
मकर राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवलिंग पर तांबे के लोटे से जल चढ़ाएं। इस राशि का स्वामी है शनि। अत: तेल और काली उड़द का दान करें। किसी गरीब को काले कंबल का दान करें। शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने से अत्यंत लाभ होता है।
कुंभ राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार में केसर और दूध को जल में मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। कुंभ राशि के स्वामी शनिदेव ही हैं। अत: हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। किसी गरीब व्यक्ति को जरूरत की सामग्री दान करें।
मीन राशि के जातक श्रावण मास के अंतिम सोमवार शिवजी को चावल एवं चंदन चढ़ाएं। बृहस्पति ग्रह को प्रसन्न करने के लिए श्रावण मास सोमवार को साबूत हल्दी का दान करें, परंतु ध्यान रहे कि हल्दी कभी भी शिवलिंग पर न चढ़ाएं। पीले रंग के अन्न का दान करें। शिवजी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं।
पुत्रदा एकादशी आज : जानिए वे 12 जरूरी बातें जो आज के दिन करनी चाहिए
रक्षा बंधन विशेष मुहूर्त: मार्गी गुरु ने बढ़ाई पर्व की शुभता, जानिए शुभ संयोग

Check Also

चाणक्य नीति

मुझे वह दौलत नही चाहिए जिसके लिए कठोर यातना सहनी पड़े, सदाचार का त्याग करना …