तो इसलिए सूर्यदेव को चढ़ाया जाता हैं जल, जानें इसके पीछे का ये बड़ा राज़

सूर्य को जल चढ़ाने से हमारे व्यक्तित्व पर सीधा असर पड़ता है। चूकिं सूर्य को सभी ग्रहों के स्वामी है, इसलिए अगर वो प्रसन्न हो जाएं तो बाकी के ग्रह अपने आप कृपा बरसाएंगे। पुराणों में सूर्य की उपासना को सभी रोगों को दूर करने वाला बताया गया है। वहीं हिंदू धर्म के मुताबिक सूर्य को जल देने से आपके जीवन में संतुलन आती है।

अगर आप आर्थिक तंगी से परेशान हैं या फिर आपका बनता हुआ काम बिगड़ जा रहा है। बीमारियां आपके घर में आकर बस गई हैं तो एक काम आपको रोजाना करना चाहिए। ज्योतिष के मुताबिक अगर ये काम आप नित दिन करते हैं तो आप सारी बाधाएं पार कर लेंगे।

सिर्फ ज्योतिष ही नहीं विज्ञान भी मानता है कि सूर्य को जल चढ़ाना काफी लाभकारी सिद्ध होता है। सूर्य को जल चढ़ाते वक्त पानी की धारा के बीच उगते सूरज को देखते हैं तो नेत्र ज्योति बढ़ती है। सूर्य की किरणों में विटामिन डी जैसे कई गुण भी मौजूद होते हैं, जो हमारे लिए लाभकारी है।

सूर्य को सभी ग्रहों के स्वामी है, इसलिए अगर वो प्रसन्न हो जाएं तो बाकी के ग्रह अपने आप कृपा बरसाएंगे। पुराणों में सूर्य की उपासना को सभी रोगों को दूर करने वाला बताया गया है। वहीं हिंदू धर्म के मुताबिक सूर्य को जल देने से आपके जीवन में संतुलन आती है।

रखें इन खास बातों का ख्याल:-
सूर्य को जल चढ़ाने के लिए सदैव तांबे के लोटा इस्तेमाल करना चाहिए।
जल में चावल, रोली, फूल पत्तियां आदि डालकर चढ़ाना चाहिए।
जल चढ़ाते समय गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए।
आप भगवान सूर्य के 12 नामों का भी जाप कर सकते हैं।

खबर पढ़कर किसी को भी नही होगा यकीन, इस मंदिर में प्रवेश करते महिलाओं का हो जाता है ऐसा बुरा हाल...
जानिए कौन है आपका सच्चा मित्र....

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …