CM योगी ने श्रीराम जन्मभूमि परिसर में भूमि पूजन पंडाल में पहुंचकर तैयारियों का लिया जायजा

पांच सदी तक चले राम मंदिर निर्माण के आंदोलन के दौरान मर्यादा पुरुषोत्तम की धरा ने धैर्य कभी नहीं छोड़ा। रामभक्तों के बलिदानी संघर्ष के पीछे भरोसे की वह नींव थी कि हां, एक न एक दिन रामलला का भव्य मंदिर बनेगा और रामलला उसमें विराजेंगे। …और वह दिन आ गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पारंपरिक हिंदू वेशभूषा धोती-कुर्ता में हैं। हिंदू धर्म में पूजा के समय धोती-कुर्ता का विशेष महत्व है।

जन्मभूमि से उठ रहे वैदिक मंत्रों की ध्वनि पूरी रामनगरी में सुनाई पड़ रही है। इसके लिए जगह जगह लाउडस्पीकर की व्यवस्था की गई है।

राम जन्म भूमि परिसर में सज कर तैयार भूमि पूजन पंडाल व रंगोली।

राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए सज-धजकर तैयार अयोध्या।

प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर दुल्हन की तरह सजाई गई अयोध्या।

अयोध्या राम की पैड़ी पर बाबा रामदेव।

साकेत विवि के गेट पर सुरक्षा व्यवस्था।

महंत नृत्य गोपाल दास मिलते सांसद बृजभूषण शरण सिंह।

अयोध्या में आज भव्य राम मंदिर के निर्माण के भूमि पूजन से पहले रामलला का भी बेहद मनमोहक शृंगार किया गया है।

पीएम मोदी के अयोध्या पहुंचने पर सबसे पहले हनुमान गढ़ी जाएंगे। इसी कारण हनुमान गढ़ी मंदिर को सैनिटाइजेशन किया गया है।

राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर अयोध्या में सारी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। सरयू घाट को भव्य तरीके से सजाया गया है।

रामनगरी में सुबह से हो रही हल्की बारिश अब बंद हो चुकी है। आसमान में छाए बादल भी छंट रहे हैं। ऐतिहासिक बेला पर मौसम भी सुहाना हो गया है। भोर में हुई बारिश से सजावट पर कोई खास असर नहीं नजर आ रहा है। अयोध्या दुल्हन की तरह सजा श्री राम जन्मभूमि का मुख्य द्वार।

रामकोट स्थित न्यास कार्यशाला में भगवान राम के कट आउट को लेकर जाती श्रद्धालु।

सार्वजनिक हुआ राम मंदिर का नया मॉडल: ट्रस्ट ने राम मंदिर का नया मॉडल सार्वजनिक कर दिया। सार्वजनिक होते ही मंदिर के नए मॉडल वाली होर्डिंग लोगों के आकर्षण का केंद्र बन गई हैं। पुराने मॉडल में तीन शिखर थे, जिसे बाद में छह किया गया।

बिजली की रंगी बिरंगी झालरों से सजा अयोध्या रेल पुल।

भूमि पूजन के लिए बना आमंत्रण पत्र खास किस्म के सिक्योरिटी कोड से लैस है जो केवल एक बार ही काम करेगा। कार्ड की नंबरिंग भी की गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संग जो हस्तियां मंच पर विराजेंगी, उसका धरातल बहुरंगी प्रिंटेड कालीन का होगा, जबकि ऊपरी हिस्सा लाल एवं सफेद रंग का होगा, जो बहुरंगी छटा बिखेरगा। इसी तरह के दो और आकर्षक पंडाल बनाए जाएंगे। परिसर में वाटर प्रूफ एवं एसी जर्मन हैंगर पंडाल लगाने का कार्य पूरा है। रामजन्मभूमि परिसर में भूमि पूजन के लिए तैयार हो रहा पंडाल।

अयोध्या में शनिवार को रोशनी में जगमगाती राम की पैड़ी। राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए भव्य तैयारियां की जा रही हैं।

दीवारों पर राम के जीवन प्रसंग को जीवंत करते चित्र।

अयोध्या के लक्ष्मण किला में प्रभु श्रीराम एवं माता जानकी को झूला झुलाते संत-महंत एवं श्रद्धालु।

राममंदिर निर्माण की बेला में रामनगरी के विकास की योजनाओं में भी नए-नए परिवर्तन के साथ विस्तार देखने को मिल रहा है। सबसे बड़ी विकास योजना भी परिवर्तन के साथ सुविधाओं के लिहाज से नया विस्तार ले रही है। अयोध्या रेलवे स्टेशन के 160 करोड़ के पुनर्विकास की योजना में सुविधा विस्तार की नई कड़ी जोड़ने की तैयारी चल रही है। अयोध्या रेलवे स्टेशन का मॉडल।

दूधिया रोशनी में सामने चमचमाती रामशिलाओं पर नजर जाती है। 28 वर्ष से राममंदिर का हिस्सा बनने की बाट जोहती ये शिलाएं सफाई के बाद फिर से जीवंत हो उठी हैं। थोड़ी दूरी पर सरस्वती शिशु मंदिर, रानोपाली में पांच अगस्त को नगर की सड़कों की रौनक बढ़ाने के लिए कलश सजाए जा रहे हैं। रामनगरी में रानोपाली स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में कलश तैयार करते अयोध्या महोत्सव समिति के पदाधिकारी और कार्यकर्ता।

प्रधानमंत्री के हाथों भूमिपूजन बुधवार को है, पर उसकी तैयारी रविवार से ही जोरों पर दिखी। अयोध्या के कोशलपुरी कॉलोनी स्थित एक गेस्ट हाउस में भूमिपूजन की खुशी के अवसर पर वितरण के लिए थोक के भाव तैयार हो रहे लड्डू।

भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए रामलला की पोशाक तैयार करते भगवत प्रसाद (सबसे आगे गेरुआ वस्त्र में), शंकर लाल (नीली शर्ट में) और उनके सहकर्मी।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने शहर के 111 चौराहों को सजाने का का जिम्मा लिया है। इन चौराहे पर भगवान श्री राम के भव्य चित्र वाली होर्डिंग भी नजर आएगी। शहर के चौराहों पर लगने लगे भगवा ध्वज और तस्वीरें।

अयोध्या में राम मंदिर के अलावा भारत में प्रसिद्ध है प्रभु श्री राम के ये 10 मंदिर
आज द्रोणनगरी में भी सुनाई देगी अयोध्या में लगने वाले श्रीराम के जयकारों की गूंज.....

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …