जीसस ने किए थे चमत्कार और उठाया था दुखों का पहाड़, जानिए सच

आज भी दुनिया के कई हिस्सों में ऐसे लोग है जो भगवान और उनसे जुड़ी बातों पर विश्वास नहीं करते है, तो कई आज भी उनके वजूद को मानते है, ठीक उसी तरह जीसस के बारें में भी मिथ्याएँ है, जिनके बारें में आज भी कुछ लोगों का कहना है कि उनका इस दुनिया में कोई भी वजूद नहीं है, लेकिन ऐसा नहीं है कि वह दुनिया में कभी नहीं थे.

ऐसा माना जाता है कि जीसस का जन्म आज से कई अरसों पहले यानी 25 दिसंबर 336 ईस्वी में हुआ था, और उनके जन्म के बाद से ही यह उनके जीवन के बारें में सारी अच्छी और बुरी घटनाओं को लिख दिया गया था, उनके जन्म से ही उनके पास कुछ ऐसी शक्तियां थी जिसके चलते उन्होंने कई पीड़ित और बीमार लोगों को चंगाई प्रदान की थी. और उस समय के बाद से ही उनके चले उन्हें अपना सब कुछ मानने लगे थे, और हमेशा ही जीसस के वचन और बातों का पालन करते थे, उनके कई चेले उनके साथ दिन रात रहते है और उनकी अगुवाई भी करते थे. इतना ही नहीं यह भी कहा जाता है जीसस ने एक कोड़े व्यक्ति को भी चंगाई दी थी, उन्होंने अंधे का उद्धार किया.

इतना ही नहीं ऐसा भी कहा जाता है कि उनके जन्म के कुछ समय के बाद से ही उनके साथ कई ऐसी बातें हुई जिस पर आज भी यक़ीन कर पाना बेहद ही मुश्किल है, लेकिन कहा जाता है कि जब वह कुछ बड़े हुए तब से उनके ऊपर कई अत्याचार भी हुए. उनके कई तरह से प्रताड़ित भी किया गया, लेकिन उन्होंने कभी भी इस बात का विरोध नहीं किया, और हर परेशानी और मुश्किल परिस्तिथियों का हसकर सामना किया.

जाने क्या है आज का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल
हर 41 वर्षो में आते हैं भगवान हनुमान, यहां के जंगलों में मिले मौजूदगी के संकेत

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …