इस दिन है बसंत पंचमी, राशि के अनुसार करें उपाय

वसंत पंचमी का पर्व इस साल 16 फरवरी को मनाया जाने वाला है। जी हाँ, इस बार यह पर्व 16 फरवरी को सुबह 03 बजकर 36 मिनट पर शुरू होगा और अगले दिन यानी 17 फरवरी को सुबह 5 बजकर 46 मिनट पर खत्म होगा। इस वजह से इस साल पंचमी तिथि 16 फरवरी को पूरे दिन रहने वाली है। अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं राशि के अनुसार बसंत पंचमी पर किये जाने वाले उपाय।

(1) मेष राशि- भगवान हनुमान की पूजा कर उनके बाएं चरण का सिन्दूर लेकर नित्य लगाएं।

(2) वृषभ राशि- इमली के पत्ते 11 पत्ते माता सरस्वती के यंत्र या चित्र पर चढ़ाएं। इसके बाद 11 पत्ते अपने पास सफेद वस्त्र में लपेटकर रखें, सफल होंगे।

(3) मिथुन राशि- भगवान गणेश को 21 दूर्वादल के अंकुर 21 बार ‘ॐ गं गणपतये नम:’ का जप कर चढ़ाएं। विघ्न दूर होंगे।

(4) कर्क राशि- माता सरस्वती के यंत्र या चित्र पर ‘ॐ ऐं सरस्वत्यै नम:’ जप कर आम के बौर चढ़ाएं। बड़े लाभ होंगे।

(5) सिंह राशि – ‘ॐ ऐं नम:।।’ गायत्री मंत्र ‘नमो ऐं ॐ’ से संपुटित कर जपें, सफल होंगे।

(6) कन्या राशि – ‘ॐ ऐं नम:’ का जप करें।

(7) तुला राशि – ब्राह्मण कन्या को श्वेत मिठाई खिलाएं। बड़ा लाभ हो सकता है।

(8) वृश्चिक राशि – माता सरस्वती को श्वेत रेशमी वस्त्र चढ़ाएं। ‘ॐ ऐं सरस्वत्यै नम:’ का जप करें।

(9) धनु राशि – माता सरस्वती को श्वेत चंदन चढ़ाएं, श्वेत वस्त्र दान दें।

(10) मकर राशि – सूर्योदय के पहले ब्राह्मी औषधि का सेवन कर ‘ॐ ऐं सरस्वत्यै नम:’ से मंत्रि‍त कर पी लें। बड़े बड़े काम सिद्ध होंगे।

(11) कुंभ राशि – कन्याओं को खीर खिलाएं और ‘ॐ ऐं नम:’ जपें। हर काम सफल हो जाएगा।

(12) मीन राशि – ‘ॐ ऐं सरस्वत्यै नम:’ का जप करें।

आज है पंचमी तिथि, जानिए पंचांग, शुभ और अशुभ मुहूर्त
इस दिन मनाई जाएगी वसंत पंचमी, बन रहा हैं विशेष योग, जानें शुभ मुहूर्त

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …