इस महाशिवरात्रि को अपनाएं ये उपाय, महादेव जल्द होंगे प्रसन्न

महाशिवरात्रि के त्यौहार का हिंदू धर्म में खास अहमियत मानी गई  है। शिवरात्रि का त्यौहार भगवान शिव को समर्पित है। फाल्गुन माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि मनाई जाती है जो इस वर्ष 11 मार्च 2021 बृहस्पतिवार को मनाई जाएगी। वास्तव में चतुर्दशी तिथि 11 मार्च को 2:39 से शुरू होगी जो 12 मार्च को दोपहर 3:02 तक रहेगी। शिव भक्त महाशिवरात्रि के त्यौहार की साल भर प्रतीक्षा करते हैं। इस दिन महादेव का अभिषेक एवं उनकी प्रिय चीजों का भोग लगाने से जीवन में आने वाली कई समस्याओं से मुक्ति प्राप्त होती है। कुंवारी कन्याएं इस दिन मनचाहे वर के लिए महादेव की खास पूजा करती हैं। शिवरात्रि का उपवास करते वक़्त कुछ खास सावधानी बरतनी आवश्यक हैं।
भगवान शिव को खुश करने के लिए ये काम करें: * उपवास के दिन प्रात: काल स्नानादि कर घर में अथवा मंदिर जाकर महादेव का पूजन करना चाहिए। * ओम नम: शिवाय का जाप करते हुए शिवलिंग पर जल एवं दूध से अभिषेक अवश्य करें। * महाशिवरात्रि के दिन व्रती रहते हुए हमेशा सत्याचरण, संयमित व्यवहार तथा मृदु भाषा का इस्तेमाल करें। * रात्रि के वक़्त सामूहिक तौर पर या घरो में शंकर जी का गुणगान करें। * रुद्राभिषेक, महा रुद्राभिषेक, महामृत्युंजय का जाप व भजन-कीर्तन करें। * इस दिन रात्रि जागरण भी किया जाता है। * अगले दिन उपवास का परायण कर दें। महादेव को आशुतोष मतलब जल्दी खुश होने वाला देवता कहा जाता है। अत: महादेव को खुश करने के लिए उनके प्रिय गंगाजल, जल, दूध, दही, बेलपत्र नारियल, शहद आदि से शिवलिंग का अभिषेक करें। याद रखें कि तीन पत्ते वाले बेलपज्ञ को शिवलिंग पर ओम् नम: शिवाय के जाप करते हुए चढ़ाने से महादेव खुश होते हैं। इन्ही सभी चीजों को कर आप भी इस महाशिवरात्री पर शंकर भगवान की असीम कृपा हासिल कर सकते हैं।
चाणक्य नीति: ये तीन गुण महिलाओं को बनाते हैं श्रेष्ठ
दुनिया ने अंत तक जीवित रहेंगे ये सात महामानव, जानिए....

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …