मई में इस दिन मनाई जाएगी सीता नवमी

मान्यता के अनुसार मां सीता का जन्म मंगलवार के दिन पुष्य नक्षत्र में हुआ था और रामनवमी पर्व के ठीक एक महीने बाद सीता नवमी पर मनाई जाती है। इस बार सीता नवमी 16 मई (Sita Navami 2024 Date) को है। इस अवसर पर मां सीता की विशेष पूजा की जाती है। साथ ही सुख एवं समृद्धि की प्राप्ति के लिए व्रत भी किया जाता है।

 हर साल वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि पर सीता नवमी का त्योहार बेहद उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस बार सीता नवमी 16 मई को है। इस अवसर पर मां सीता की विशेष पूजा की जाती है। साथ ही सुख एवं समृद्धि की प्राप्ति के लिए व्रत भी किया जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार, वैशाख माह के शुक्ल पक्ष नवमी तिथि पर मां सीता का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन को सीता नवमी के रूप में मनाया जाता है। आइए जानते हैं सीता नवमी का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि के बारे में।

सीता नवमी 2024 डेट और शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार, वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि की शुरुआत 16 मई को सुबह 06 बजकर 22 मिनट से होगी और इसका समापन अगले दिन यानी 17 मई को सुबह 08 बजकर 48 मिनट पर होगा। ऐसे में सीता नवमी का पर्व 16 मई को मनाया जाएगा।

सीता नवमी पूजा विधि

  • सीता नवमी के दिन सुबह उठकर स्नान करें।
  • इसके बाद मंदिर की सफाई करें और गंगाजल का छिड़काव कर शुद्ध करें।
  • अब चौकी पर साफ कपड़ा बिछाकर मां सीता और भगवान श्रीराम की प्रतिमा विराजमान करें।
  • मां सीता को सोलह श्रृंगार का सामान अर्पित करें।
  • फूल, अक्षत, चंदन, सिंदूर, धूप, दीप आदि भी चढाएं।
  • देसी घी का दीपक जलाकर आरती करें।
  • पूजा के दौरान मंत्रों का जाप अवश्य करना चाहिए।
  • इसके पश्चात मां सीता को फल, मिठाई समेत आदि चीजों का भोग लगाएं।
  • अंत में जीवन में सुख और शांति के लिए प्रार्थना करें।
01 मई का राशिफल
हिंदू धर्म में सर्वश्रेष्ठ है ब्रह्म विवाह

Check Also

निर्जला एकादशी के दिन श्री हरि के साथ करें मां तुलसी की पूजा

इस साल निर्जला एकादशी 18 जून 2024 को मनाई जाएगी। ऐसा कहा जाता है कि …