हर मुसीबत और विघ्नों से बचाते हैं मां दुर्गा के यह दुर्लभ नाम…

आप सभी जानते ही हैं कि नवरात्रि 10 अक्टूबर से शुरू हो चुकी है ऐसे में मां दुर्गा के 1000 दुर्लभ नामों का जप लोगों को संसार की हर आपदा से, हर संकट और विघ्नों से बचता है. जी हाँ, नामों के जाप से हर संकट दूर हो जाता है. ऐसे में जीवन को वैभवशाली और ऐश्वर्यशाली बनाने के लिए इन नामों का जाप आवश्यक है. कहते हैं कि श्री देवी सहस्रनामावली के इन नामों को पढ़ने से दिन-प्रतिदिन सफलता के परचम लहराने लगते हैं और सभी कामों में सफलता मिलने लगती हैं. तो अब आइए जानते हैं मां देवी दुर्गा में 1000 नामों में से 200 नाम.
1.
महाविद्या
ॐ महाविद्यायै नम:
2.
जगन्माता
ॐ जगन्मात्रे नम:
3.
महालक्ष्मी
ॐ महालक्ष्म्यै नम:
4.
शिवप्रिया
ॐ शिवप्रियायै नम:
5.
विष्णुमाया
ॐ विष्णुमायायै नम:
6.
शुभा
ॐ शुभायै नम:
7.
शान्ता
ॐ शान्तायै नम:
8.
सिद्धा
ॐ सिद्धायै नम:
9.
सिद्धसरस्वती
ॐ सिद्धसरस्वत्यै नम:
10.
क्षमा
ॐ क्षमायै नम:
11.
कान्तिः
ॐ कान्त्यै नम:
12.
प्रभा
ॐ प्रभायै नम:
13.
ज्योत्स्ना
ॐ ज्योत्स्नायै नम:
14.
पार्वती
ॐ पार्वत्यै नम:
15.
सर्वमङ्गला
ॐ सर्वमङ्गलायै नम:
16.
हिङ्गुला
ॐ हिङ्गुलायै नम:
17.
चण्डिका
ॐ चण्डिकायै नम:
18.
दान्ता
ॐ दान्तायै नम:
19.
पद्मा
ॐ पद्मायै नम:
20.
लक्ष्मी
ॐ लक्ष्म्यै नम:
21.
हरिप्रिया
ॐ हरिप्रियायै नम:
22.
त्रिपुरा
ॐ त्रिपुरायै नम:
23.
नन्दिनी
ॐ नन्दिन्यै नम:
24.
नन्दा
ॐ नन्दायै नम:
25.
सुनन्दा
ॐ सुनन्दायै नम:
26.
सुरवन्दिता
ॐ सुरवन्दितायै नम:
27.
यज्ञविद्या
ॐ यज्ञविद्यायै नम:
28.
महामाया
ॐ महामायायै नम:
29.
वेदमाता
ॐ वेदमात्रे नम:
30.
सुधा
ॐ सुधायै नम:
31.
धृतिः
ॐ धृत्यै नम:
32.
प्रीतिः
ॐ प्रीतये नम:
33.
प्रथा
ॐ प्रथायै नम:
34.
प्रसिद्धा
ॐ प्रसिद्धायै नम:
35.
मृडानी
ॐ मृडान्यै नम:
36.
विंध्यवासिनी
ॐ विन्ध्यवासिन्यै नम:
37.
सिद्धविद्या
ॐ सिद्धविद्यायै नम:
38.
महाशक्ति:
ॐ महाशक्तये नम:
39.
पृथ्वी
ॐ पृथ्व्यै नम:
40.
नारदसेविता
ॐ नारदसेवितायै नम:
41.
पुरुहुतप्रिया
ॐ पुरुहूतप्रियायै नम:
42.
कान्ता
ॐ कान्तायै नम:
43.
कामिनी
ॐ कामिन्यै नम:
44.
पद्मलोचना
ॐ पद्मलोचनायै नम:
45.
प्रह्लादिनी
ॐ प्रह्लादिन्यै नम:
46.
महामाता
ॐ महामात्रे नम:
47.
दुर्गा
ॐ दुर्गायै नम:
48.
दुर्गतिनाशिनी
ॐ दुर्गतिनाशिन्यै नम:
49.
ज्वालामुखी
ॐ ज्वालामुख्यै नम:
50.
सुगोत्रा
ॐ सुगोत्रायै नम:
51.
ज्योति:
ॐ ज्योतिषे नम:
52.
कुमुदवासिनी
ॐ कुमुदवासिन्यै नम:
53.
दुर्गमा
ॐ दुर्गमायै नम:
54.
दुर्लभा
ॐ दुर्लभायै नम:
55.
विद्या
ॐ विद्यायै नम:
56.
स्वर्गति:
ॐ स्वर्गत्यै नम:
57.
पुरवासिनी
ॐ पुरवासिन्यै नम:
58.
अपर्णा
ॐ अपर्णायै नम:
59.
शाम्बरीमाया
ॐ शाम्बरीमायायै नम:
60.
मदिरा
ॐ मदिरायै नम:
61.
मृदुहासिनी
ॐ मृदुहासिन्यै नम:
62.
कुलवागीश्वरी
ॐ कुलवागीश्वर्यै नम:
63.
नित्या
ॐ नित्यायै नम:
64.
नित्यक्लिन्ना
ॐ नित्यक्लिन्नायै नम:
65.
कृशोदरी
ॐ कृशोदर्यै नम:
66.
कामेश्वरी
ॐ कामेश्वर्यै नम:
67.
नीला
ॐ नीलायै नम:
68.
भीरुण्डा
ॐ भीरुण्डायै नम:
69
वह्निवासिनी
ॐ वह्निवासिन्यै नम:
70
लम्बोदरी
ॐ लम्बोदर्यै नम:
71.
महाकाली
ॐ महाकाल्यै नम:
72.
विद्याविद्येश्वरी
ॐ विद्याविद्येश्वर्यै नम:
73.
नरेश्वरी
ॐ नरेश्वरायै नम:
74.
सत्या
ॐ सत्यायै नम:
75.
सर्वसौभाग्यवर्धिनी
ॐ सर्वसौभाग्यवर्धिन्यै नम:
76.
सङ्कर्षणी
ॐ सङ्कर्षण्यै नम:
77.
नारसिंही
ॐ नारसिंह्यै नम:
78.
वैष्णवी
ॐ वैष्णव्यै नम:
79.
महोदरी
ॐ महोदर्यै नम:
80.
कात्यायनी
ॐ कात्यायन्यै नम:
81.
चम्पा
ॐ चम्पायै नम:
82.
सर्वसम्पत्तिकारिणी
ॐ सर्वसम्पत्तिकारिण्यै नम:
83.
नारायणी
ॐ नारायण्यै नम:
84.
महानिद्रा
ॐ महानिद्रायै नम:
85.
योगनिद्रा
ॐ योगनिद्रायै नम:
86.
प्रभावती
ॐ प्रभावत्यै नम:
87.
प्रज्ञापारमिता
ॐ प्रज्ञापारमितायै नम:
88.
प्रज्ञा
ॐ प्रज्ञायै नम:
89.
तारा
ॐ तारायै नम:
90.
मधुमती
ॐ मधुमत्यै नम:
91.
मधु
ॐ मधुवे नम:
92.
क्षीरार्णवसुधाहारा
ॐ क्षीरार्णवसुधाहारायै नम:
93.
कालिका
ॐ कालिकायै नम:
94.
सिंहवाहना
ॐ सिंहवाहिन्यै नम:
95.
ओंकारा
ॐ ओंकारायै नम:
96.
वसुधाकारा
ॐ वसुधाकारायै नम:
97.
चेतना
ॐ चेतनायै नम:
98.
कोपनाकृति:
ॐ कोपनाकृत्यै नम:
99.
अर्धबिन्दुधरा
ॐ अर्धबिन्दुधरायै नम:
100.
धारा
ॐ धारायै नम:
101.
विश्वमाता
ॐ विश्वमात्रे नम:
102.
कलावती
ॐ कलावत्यै नम:
103.
पद्मावती
ॐ पद्मावत्यै नम:
104.
सुवस्त्रा
ॐ सुवस्त्रायै नम:
105.
प्रबुद्धा
ॐ प्रबुद्धायै नम:
106.
सरस्वती
ॐ सरस्वत्यै नम:
107.
कुण्डासना
ॐ कुण्डासनायै नम:
108.
जगद्धात्री
ॐ जगद्धात्र्यै नम:
109.
बुद्धमाता
ॐ बुद्धमात्रे नम:
110.
जिनेश्वरी
ॐ जिनेश्वर्यै नम:
111.
जिनमता
ॐ जिनमात्रे नम:
112.
जिनेन्द्रा
ॐ जिनेन्द्रायै नम:
113.
शारदा
ॐ शारदायै नम:
114.
हंसवाहना
ॐ हंसवाहनायै नम:
115.
राज्यलक्ष्मी
ॐ राज्यलक्ष्म्यै नम:
116.
वषट्कारा
ॐ वषट्कारायै नम:
117.
सुधाकारा
ॐ सुधाकारायै नम:
118.
सुधात्मिका
ॐ सुधात्मिकायै नम:
119.
राजनीति:
ॐ राजनीतये नम:
120.
त्रयी
ॐ त्रय्यै नम:
121.
वार्ता
ॐ वार्तायै नम:
122.
दण्डनीति:
ॐ दण्डनीतये नम:
123.
क्रियावती
ॐ कियावत्यै नम:
124.
सद्भूति:
ॐ सद्भूत्यै नम:
125.
तारिणी
ॐ तारिण्यै नम:
126.
श्रद्धा
ॐ श्रद्धायै नम:
127.
सद्गति:
ॐ सद्गतये नम:
128.
सत्परायणा
ॐ सत्परायणायै नम:
129.
सिन्धुः
ॐ सिन्धवे नम:
130.
मन्दाकिनी
ॐ मन्दाकिन्यै नम:
131.
गङ्गा
ॐ गङ्गायै नम:
132.
यमुना
ॐ यमुनायै नम:
133.
सरस्वती
ॐ सरस्वत्यै नम:
134.
गोदावरी
ॐ गोदावर्यै नम:
135.
विपाशा
ॐ विपाशायै नम:
136.
कावेरी
ॐ कावेर्यै नम:
137.
शतद्रुका
ॐ शतहन्दायै नम:
138.
सरयूः
ॐ सरय्वै नम:
139.
चन्द्रभागा
ॐ चन्द्रभागायै नम:
140.
कौशिकी
ॐ कौशिक्यै नम:
141.
गण्डकी
ॐ गण्डक्यै नम:
142.
शुचिः
ॐ शुचये नम:
143.
नर्मदा
ॐ नर्मदायै नम:
144.
कर्मनाशा
ॐ कर्मनाशाय नम:
145.
चर्मण्वती
ॐ चर्मण्वत्यै नम:
146.
देविका
ॐ देविकायै नम:
147.
वेत्रवती
ॐ वेत्रवत्यै नम:
148.
वितस्ता
ॐ वितस्तायै नम:
149.
वरदा
ॐ वरदायै नम:
150.
नरवाहना
ॐ नरवाहनायै नम:
151.
सती
ॐ सत्यै नम:
152.
पतिव्रता
ॐ पतिव्रतायै नम:
153.
साध्वी
ॐ साध्व्यै नम:
154.
सुचक्षुः
ॐ सुचक्षुषे नम:
155.
कुण्डवासिनी
ॐ कुण्डवासिन्यै नम:
156.
एकचक्षुः
ॐ एकचक्षुषे नम:
157.
सहस्राक्षी
ॐ सहस्राक्ष्यै नम:
158.
सुश्रोणिः
ॐ सुश्रोण्यै नम:
159.
भगमालिनी
ॐ भगमालिन्यै नम:
160.
सेना
ॐ सेना नम:
161.
श्रेणिः
ॐ श्रोण्यै नम:
162.
पताका
ॐ पताकायै नम:
163.
सुव्यूहा
ॐ सुव्यूहायै नम:
164.
युद्धकान्क्षिणी
ॐ युद्धकान्क्षिण्यै नम:
165.
पताकिनी
ॐ पताकिन्यै नम:
166.
दयारम्भा
ॐ दयारम्भायै नम:
167.
विपञ्चीपञ्चमप्रिया
ॐ विपञ्चीपञ्चमप्रियायै नम:
168.
परापरकलाकान्ता
ॐ परापरकलाकान्तायै नम:
169.
त्रिशक्ति:
ॐ त्रिशक्तये नम:
170.
मोक्षदायिनी
ॐ मोक्षदायिन्यै नम:
171.
ऐन्द्री
ॐ ऐन्द्रयै नम:
172.
माहेश्वरी
ॐ माहेश्वर्यै नम:
173.
ब्राह्मी
ॐ ब्राह्मयै नम:
174.
कौमारी
ॐ कौमार्यै नम:
175.
कुलवासिनी
ॐ कुलवासिन्यै नम:
176.
इच्छा
ॐ इच्छायै नम:
177.
भगवती
ॐ भगवत्यै नम:
178.
शक्ति:
ॐ शक्तये नम:
179.
कामधेनुः
ॐ कामधेनवे नम:
180.
कृपावति
ॐ कृपावत्यै नम:
181.
वज्रायुधा
ॐ वज्रायुधायै नम:
182.
वज्रहस्ता
ॐ वज्रहस्तायै नम:
183.
चण्डी
ॐ चण्ड्यै नम:
184.
चण्डपराक्रमा
ॐ चण्डपराक्रमायै नम:
185.
गौरी
ॐ गौर्यै नम:
186.
सुवर्णवर्णा
ॐ सुवर्णवर्णायै नम:
187.
स्थितिसंहारकारिणी
ॐ स्थितिसंहारकारिण्यै नम:
188.
एका
ॐ एकायै नम:
189.
अनेका
ॐ अनेकायै नम:
190.
महेज्या
ॐ महेज्यायै नम:
191.
शतबाहुः
ॐ शतबाहवे नम:
192.
महाभुजा
ॐ महाभुजायै नम:
193.
भुजङ्गभूषणा
ॐ भुजङ्गभूषणायै नम:
194.
भूषा
ॐ भूषायै नम:
195.
षट्चक्रक्रमवासिनी
ॐ षट्चक्रक्रमवासिन्यै नम:
196.
षट्चक्रभेदिनी
ॐ षट्चक्रभेदिन्यै नम:
197.
श्यामा
ॐ श्यामायै नम:
198.
कायस्था
ॐ कायस्थायै नम:
199.
कायवर्जिता
ॐ कायवर्जितायै नम:
200.
सुस्मिता
ॐ सुस्मितायै नम:
हर शनिवार भगवान शनि की पूजा में गाये यह आरती, बन जाएंगे बिगड़े काम
जब मां वैष्णों ने किया भैरो बाबा भैरव का संहार...

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …