Tag Archives: आखिर क्यों जरूरी है शक्ति की सााधना में माता गायत्री का अनुष्ठान…

आखिर क्यों जरूरी है शक्ति की सााधना में माता गायत्री का अनुष्ठान…

मानवी काया की अयोध्या में नौ द्वार (इंद्रियां) हैं। नवरात्रि के दिनों में अनुष्ठान करते हुए एक-एक रात्रि में एक-एक इंद्री के बारे में विचार करते हुए, उन पर संयम और सामर्थ्य को उभारना है। यही शक्ति की साधना का मर्म है।  नवरात्र की साधना-उपासना ऋतुसंधि की वेला में की जाती है। ऋतुसंधि अर्थात जब दो ऋतुएं मिल रही हों। …

Read More »