चाणक्य नीति

एक व्यक्ति को चारो वेद और सभी धर्मं शास्त्रों का ज्ञान है। लेकिन उसे यदि अपने आत्मा की अनुभूति नहीं हुई तो वह उसी चमचे के समान है जिसने अनेक पकवानों को हिलाया लेकिन किसी का स्वाद नहीं चखा।

ठहरता नहीं है धन तो यह करें उपाय
शनि ग्रह के प्रभाव से सिर से कम होते हैं बाल

Check Also

जानिए आखिर क्यों रमजान के पाक महीने में रखा जाता है रोजा, क्या है महत्व….

इस समय त्योहारों का समय चल रहा है वही इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक, नौवां माह …