कुंडली का शनि कर रहा है बहुत परेशान, मंत्रों से होगा निवारण

हर रोज बोला गया एक खास मंत्र आपके जीवन में कमाल दिखा सकता है.वही  किसी भी इच्छा को पूरी करने की क्षमता रखते हैं शनिदेव से जुड़े कुछ खास उपाय करने होंगे. मिली हुई जानकारी के अनुसार चाहे मनचाही नौकरी हो. सौभाग्य, दौलत, सफलता या सम्मान पाने की इच्छा ही क्यों ना हो. शनिदेव से जुड़े मंत्र आपकी मनोकामना जरूर पूरी करते हैं. ज्योतिष के जानकार कहते हैं कि शनि के मंत्रों में अद्भुत ताकत है. शनि के मंत्रों के जाप से शीघ्र ही उनकी कृपा मिल जाती है.

वही उनकी महाकृपा क्योंकि शनि कर्मफलदाता है. वो न्यायाधीश हैं. इसलिए शनि की कृपा के बिना जीवनमें सुख शांति संभव ही नही हैं. अगर आप शनि की साढ़ेसाती या ढैय्या से परेशान हों. तो भी इशनि के मंत्रों के जाप से आपके कष्टों को निवारण हो सकता है या यूं कहें कि शनि देव के मंत्रों का जाप करने से हर बाधा हर विपदा दूर हो सकती है. मान्यता है कि शनिदेव को महादेव ने न्याय का देवता बनाया है और शनिदेव ही इस कलियुग में मनुष्यों को पापों का हिसाब करते हैं. उन्हें उनके पापों के हिसाब से सजा भी देते हैं. लेकिन ज्योतिषी कहते हैं कि पाप कर्मों से तौबा कर लेने और फिर शनिदेव के मंत्रों के जाप से उसे प्रसन्न होते हैं.

इसके अलावा शनि के क्रोध से कोई नहीं बचा है. शनि की टेढ़ी नजर जिस इंसान पर पड़ती है उसका जीवन कष्टों से भर जाता है | इसके अलावा किसे कष्ट और किसे सुख देंगे शनि-शनि की दृष्टि हर इंसान के लिए टेढ़ी नहीं होती, क्योंकि शनि संतुलन और न्याय के देवता हैं. गलत प्रवृत्ति और बेइमान लोगों को पीड़ित करते हैं. जो इंसान ईमानदारी और मेहनत की जिंदगी जीता है उसे शनि पुरस्कार भी देते हैं. जहां से सूर्य का प्रभाव खत्म होता है. वहीं से शनि का प्रभाव शुरू होता है. इसलिए शनि पूजन के लिए देर शाम या रात का समय सबसे उत्तम माना जाता है.

इस साल 17 जून को पड़ रही योगिनी एकादशी, जानिए व्रत की कथा...
जाने हनुमान की किस मुद्रा से मिलता है कौन सा आशीर्वाद

Check Also

शिव जी की पूजा करने से मंगल ग्रह की दूर होती है अशुभता, इस मंत्र का करें जाप

महाशिवरात्रि का पर्व विशेष महत्व रखता है. भगवान शिव की पूजा से सभी प्रकार की …