आखिर क्यों इतनी गंदगी के बाद भी गंगा हमेशा पवित्र है! जानिए क्या है कारण

भारत एक ऐसा अनूठा देश है, जहाँ हम पेड़-पौधों की पूजा करते हैं, हम नदियों और तालाबों की भी पूजा करते हैं। लगभग हर हिंदू परिवार में निश्चित रूप से कलश या कोई और बर्तन होता था जिसमें गंगा जल होता है। आप सभी जानते हैं कि भारत में कई नदियाँ हैं जिनकी अलग पहचान है।

गंगा नदी के बारे में बात करते हैं, जिसका विशेष महत्व है और इस नदी का पानी बिल्कुल शुद्ध है, आज हम उस गंगा नदी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका पानी हमेशा पवित्र है,आइए हम आपको बताते हैं:

वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि जिस स्थान से गंगा नदी का उद्गम हुआ है। यह स्थान हिमालय पर्वत पर है, जहाँ कई प्रकार की जीवन देने वाली जड़ी-बूटियाँ, खनिज लवण पाए जाते हैं। ये जड़ी-बूटियाँ और खनिज लवण गंगा के पानी के संपर्क में आते हैं, जिसके कारण इनके गुण गंगा के पानी में घुल जाते हैं।

जिसके कारण गंगा का पानी खराब नहीं होता है। गंगा नदी का पानी इतना शुद्ध है कि भले ही उसे बोतल में भरकर कई दिनों तक रखा जाए, वह खराब नहीं होती है। वैज्ञानिक शोध में यह बात सामने आई है कि ऐसा वायरस गंगा के पानी में पाया जाता है। जो इस पानी की अशुद्धियों को समाप्त करता है और इसमें पनपने वाले जीवाणुओं को नष्ट करता है।

मुहर्रम: मुस्लिम नहीं मनाते हैं यह त्यौहार, जानें इसकी कुछ मुख्य बातें...
करवा चौथ : महिलाओं के 16 श्रृंगार में ये वस्तुए होती है शामिल, जानिए....

Check Also

पूजा घर में अवश्य रखे ये छह वस्तु, नहीं होगी कभी पैसों की समस्या

हमारा देश अपनी धार्मिक मान्यताओं के लिए जाना जाता है वही घर में पूजा का …