नवरात्रि: कन्या पूजन के दौरान इन बातों का रखें खास ख्याल

आने वाले 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि आरंभ हो रहे हैं जो बड़े ही ख़ास माने जाते हैं। जी दरअसल इस नवरात्रि में माँ का पूजन बहुत ही धूम धाम से किया जाता है लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते लोगों को अपने घरों में ही पूजन करना होगा। वैसे हम आपको बता दें कि नवरात्रि 17 अक्टूबर से आरम्भ होकर 25 अक्टूबर तक रहने वाली है। आप जानते ही होंगे नवरात्रि की अष्टमी और नवमी तिथि पर घरों और मंदिरो में कन्या पूजन किया जाता है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कन्या पूजन का महत्व और कन्या पूजन करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

कन्या पूजन का महत्व- कहा जाता है नवरात्रि पर कन्या पूजन करने से मां प्रसन्न होती हैं। इसके अलावा माँ अपने भक्तों की हर इच्छा को पूरा कर देती हैं। जी दरअसल शास्त्रों में भी बताया गया है कि कन्या पूजन करने से सुख-शांति और मोक्ष की प्राप्ति होती है। इसी के साथ कन्या पूजन से पहले हवन करवाने का प्रावधान भी माना जाता है जिससे सब शुभ हो।

कन्या पूजन करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए – कहा जाता है नवरात्रि में 9 कन्याओं को भोजन करवाना चाहिए क्योंकि 9 कन्याओं को देवी दुर्गा के 9 स्वरुपों का प्रतीक माना जाता है। इसी के साथ ध्यान रहे कि कन्याओं के साथ एक बालक को भी भोजन जरूर करवाए। जी दरअसल बालक को बटुक भैरव का प्रतीक माना जाता है और मां के साथ भैरव की पूजा आवश्यक होती है। इस बात का भी विशेष ध्यान रहे कि 2 साल से लेकर 10 साल की आयु तक की कन्याओं का ही पूजन करें।

नवरात्र में कन्या पूजन के दौरान इन बातों का रखे ख्याल
जानिए चित्रा नक्षत्र में किन राशियों पर पड़ेगा सूर्य का बुरा प्रभाव

Check Also

महाभारत: इस कारण तीरों की शैया पर भीष्म को पड़ा था सोना, कर्म कभी नहीं छोड़ते पीछा

जीवन में कभी भी बुरे कर्म न करें अन्यथा किसी न किसी जन्म में कर्मफल …