आज यानि 13 अक्टूबर का जानिए पंचांग, शुभ और अशुभ मुहूर्त

आज 13 अक्टूबर है। ऐसे में आज हम लेकर आए हैं आज का पंचांग जिसे देखकर आप शुभ मुहूर्त और अशुभ मुहूर्त के साथ राहुकाल के बारे में जान सकते हैं।

राष्ट्रीय मिति अश्विन 21 शक संवत 1942 आश्विन कृष्णा एकादशी मंगलवार विक्रम संवत 2077। सौर आश्विन मास प्रविष्टे 28 सफर 25 हिजरी 1442 (मुस्लिम) तदनुसार अंगे्रजी तारीख 13 अक्टूबर सन 2020 ई॰। सूर्य दक्षिणायन, दक्षिणगोल, शरद् ऋतु। राहुकाल अपराह्न 03 बजे से 04 बजकर 30 मिनट तक। एकादशी तिथि अपराह्न 02 बजकर 36 मिनट तक उपरान्त द्वादशी तिथि का आरंभ। मेधा नक्षत्र रात्रि 10 बजकर 54 मिनट तक उपरान्त पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र का आरभ, शुभ योग सांय 05 बजकर 42 मिनट तक उपरान्त शुक्ल योग का आरंभ। बालव करण अपराह्न, 02 बजकर 36 मिनट तक उपरान्त तैतिलकरण का आरंभ चन्द्रमा दिन रात सिंह राशि पर संचार करेगा ।

सूर्योदय का समय 13 अक्टूबर: सुबह 06 बजकर 21 मिनट पर।

सूर्यास्त का समय 13 अक्टूबर: शाम 05 बजकर 53 मिनट पर।

आज का शुभ मुहूर्तः अभिजीत मुहूर्त दोपहर 11 बजकर 44 मिनट से 12 बजकर 30 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 02 मिनट से 02 बजकर 49 मिनट तक रहेगा। निशिथ काल मध्यरात्रि 11 बजकर 42 मिनट से 12 बजकर 32 मिनट तक। गोधूलि मुहूर्त शाम 05 बजकर 42 मिनट से 06 बजकर 06 मिनट तक। अमृत काल रात में 8 बजकर 40 मिनट से 10 बजकर 10 मिनट तक रहेगा। ब्रह्म मुहूर्त 14 अक्‍टूबर को सुबह 4 बजकर 42 मिनट से 5 बजकर 31 मिनट तक।

आज का अशुभ मुहूर्तः राहुकाल दोपहर में 3 बजे से 4 बजकर 30 मिनट तक। सुबह 9 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक यमगंड रहेगा। दोपहर 12 बजे से 1 बजकर 30 मिनट तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल सुबह 8 बजकर 39 मिनट से 9 बजकर 25 मिनट तक इसके बाद रात को 10 बजकर 53 मिनट से 11 बजकर 42 मिनट तक रहेगा।

अत्यंत चमत्कारी है शिव का डमरू, जानिए इसके बारे में...
जानिए 12 अक्टूबर का यानि आज का पंचांग, राहुकाल और शुभ मुहूर्त

Check Also

महाभारत: इस कारण तीरों की शैया पर भीष्म को पड़ा था सोना, कर्म कभी नहीं छोड़ते पीछा

जीवन में कभी भी बुरे कर्म न करें अन्यथा किसी न किसी जन्म में कर्मफल …