विनायक चतुर्थी पर इस आरती से गणपति बप्पा को करें प्रसन्न

आप सभी इस बात से वाकिफ ही होंगे कि हर महीने में दो चतुर्थी तिथियां आती हैं। वहीं इन दोनों तिथियों को भगवान गणेश को समर्पित माना जाता है। कहा जाता है अगर इस दिन व्रत रखा जाए और बप्पा का पूजन किया जाए तो सारे अमंगल दूर हो जाते हैं और सब कुछ मंगल ही मंगल होता है। वैसे कल यानी 16 जनवरी शनिवार को साल 2021 की पहली विनायक चतुर्थी पड़ रही है। ऐसे में इस दिन गणेश जी की आरती करने से बड़े लाभ होते हैं। तो हम लाये हैं गणपति जी की आरती, जो आपको कल बप्पा के पूजन के बाद करनी है।

बप्पा की आरती – 

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,
चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे,
मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,
और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे,
संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,
कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत,
निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए,
सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,
शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो,
जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

चाणक्य नीति: बच्चों को योग्य बनाती हैं ये बातें, माता-पिता को रखना चाहिए ध्यान
मकर राशि में शनिदेव के बाद देव गुरु बृहस्पति के अस्त होने के बाद नहीं हों सकेंगे ये कार्य

Check Also

शिव जी की पूजा करने से मंगल ग्रह की दूर होती है अशुभता, इस मंत्र का करें जाप

महाशिवरात्रि का पर्व विशेष महत्व रखता है. भगवान शिव की पूजा से सभी प्रकार की …