जानिए कब है सकट चौथ का व्रत, पंचांग के अनुसार करें पूजा

31 जनवरी का दिन धार्मिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है. इस दिन सकट चौथ का पर्व है. इस पर्व पर भगवान गणेश जी की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है. इस दिन व्रत रखने का भी विधान है. मान्यता है कि सकट चौथ पूर भगवान गणेश जी की पूजा करने और व्रत रखने से संतान को लंबी आयु प्राप्त होती है. वहीं संतान पर आने वाली वाधाएं भी दूर होती हैं. ऐसी मान्यता है यह व्रत संतान के लिए बहुत ही शुभ होता है. यह व्रत संतान को हर प्रकार की बाधाओं से दूर रखने वाला माना गया है. संतान की शिक्षा, सेहत और करियर में आने वाली परेशानियों को भी दूर करता है.

सकट चौथ पर गणेश जी को करें प्रसन्न
गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए सकट चौथ का पर्व शुभ माना जाता है. गणेश जी बुद्धि के दाता है. इसके साथ ही ग्रहों की अशुभता को दूर करते हैं. बुध ग्रह की अशुभता को दूर करने के लिए यह पर्व उत्तम माना गया है. इसके साथ के केतु के बुरे प्रभाव को भी कम करने में यह पूजा सहायक मानी गई है.

गुड और तिल से बनी चीजों का सेवन करें
सकट चतुर्थी पर तिल और गुड से बनी चीजों का खाने की विशेष परंपरा है. इसीलिए इसे कहीं कहीं तिलकुटा चौथ भी कहते हैं. हिंद भाषी राज्यों में सकट चतुर्थी का पर्व बड़े ही श्रद्धाभाव से मनाया जाता है. जनवरी माह का यह अंतिम धार्मिक पर्व है.

पंचांग के अनुसार सकट चौथ का मुहूर्त
सकट चौथ का पर्व पंचांग के अनुसार 31 जनवरी 2021 को पड़ रहा है. इस दिन चन्द्रोदय का समय रात्रि 08 बजकर 27 मिनट है. चतुर्थी तिथि का प्रारंभ 31 जनवरी 2021 को रात्रि 08 बजकर 24 मिनट से होगा. इस तिथि का समापन 1 फरवरी 2021 को शाम 06 बजकर 24 मिनट पर होगा.

चाणक्य नीति : व्यक्ति को महान और अच्छा इंसान बनाती है ये आदत
जानें क्या है आज का पंचांग, शुभ-अशुभ मुहूर्त

Check Also

महाभारत: इस कारण तीरों की शैया पर भीष्म को पड़ा था सोना, कर्म कभी नहीं छोड़ते पीछा

जीवन में कभी भी बुरे कर्म न करें अन्यथा किसी न किसी जन्म में कर्मफल …