क्या आप जानते हैं भगवान विष्णु की बहन का नाम? यहां होती है पूजा

kullu00-1448874162-300x214हिमाचल प्रदेश के कुल्लू शहर में भगवान विष्णु की बहन का मंदिर है। यहां उन्हें देवी भुवनेश्वरी या जगन्नाथी कहा जाता है। यह स्थान देवी भेखली मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। मंदिर का इतिहास करीब 1500 साल पुराना बताया जाता है। साथ ही इससे एक चमत्कारी कथा भी जुड़ी है। जगन्नाथी माता को भगवान विष्णु की बहन कहा जाता है।

मंदिर में देवी के शक्ति स्वरूप की महिमा बताने वाले अनेक चित्र हैं। मां भुवनेश्वरी का मंदिर स्थापित होने से पूर्व यहां विशाल जंगल था। यहां लोग अपने मवेशी चराने आते थे। जंगल में एक प्राचीन गुफा थी। इसमें दो साध्वी बहनें तपस्या करती थीं।

 

ग्रामीणों को उनके बारे में पता नहीं था। उसी गांव में एक बांसुरीवादक भी रहता था। वह बांसुरी बजाने की कला में बहुत निपुण था। एक दिन वह बांसुरी बजा रहा था और लोग उसके साथ जंगल की ओर चले आ रहे थे। बांसुरी की धुन और लोगों के शोर से दोनों साध्वियों की साधना भंग हो गई। फिर क्या हुआ, पढ़िए आगे।

बांसुरी की धुन पर वे साध्वियां नृत्य करने लगीं परंतु उनका नृत्य दूसरे लोगों से अलग था। वे धरती पर नहीं बल्कि हवा में नृत्य कर रही थीं। बांसुरीवादक के लिए यह घटना बिलकुल अनोखी थी। जब वह सच्चाई जानने उनके पास गया और एक को स्पर्श करने की कोशिश की तो उस साध्वी ने छलांग लगाई और ब्यास नदी के उस पार पुईद गांव में चली गईं।

 

माना जाता है कि उसका चरणचिह्न आज भी मौजूद है। दूसरी साध्वी भेखली गांव में ही रुक गई और उसकी वहां पूजा होने लगी। उसी देवी का आज तक यहां श्रद्धापूर्वक पूजन हो रहा है। 

 

 

 

400 साल से इस मंदिर में नंदी कर रहा है शिव का जलाभिषेक
कुंडली का यह खास योग बताता है शादी से पहले कर्इ secret

Check Also

श्री राम की यह आरती देगी आपको कीर्ति

आरती आपके द्वारा की गई पूजा में आई छोटी से छोटी कमी को दूर कर …