Nag Panchami 2018: इस शुभ मुहूर्त में करें नाग पंचमी की पूजा

श्रावण महीने की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस बार नागपंचमी का पर्व 15 अगस्त को मनाया जाएगा। हिन्दू धर्म में नाग पंचमी का विशेष महत्व होता है। इस त्योहार पर देश के कई हिस्सों में सांपों की पूजा होती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन अगर सर्प की पूजा की जाए तो भगवान शंकर प्रसन्न होते हैं।

नाग पंचमी के दिन नाग देवता की फूल और मंत्रों से पूजा की जाती है और दुध से स्नान कराया जाता है। नागपंचमी पर रुद्राभिषेक का भी विशेष महत्व है। इसके अलावा इस दिन को गरुड़ पंचमी के नाम से भी जानते हैं। नाग देवता के साथ पंचमी के दिन गरुड़ की पूजा भी जाती है।

नाग पंचमी का शुभ मुहूर्त
इस बार 15 अगस्त के दिन नागपंचमी पर स्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। ज्योतिष में इस योग को बहुत ही शुभ योग माना गया है। नागपंचमी पर पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 5 बजकर 54 मिनट से 8 बजकर 30 मिनट तक रहेगा। 

ऐसे दूर करें कालसर्प दोष
अगर किसी की कुंडली में कालसर्प दोष है तो नागपंचमी के दिन पूजा करने से कालसर्प दोष दूर हो जाता है। कालसर्प दोष को दूर करने के लिए यह दिन बहुत विशेष माना जाता है। इस दिन नागों की पूजा और ऊं नम: शिवाय का जप करना फलदायी होता है। इसके अलावा इस दिन पर रुद्राभिषेक करने से भी जातक की कुंडली से कालसर्प दोष दूर हो जाता है।

भगवान राम को घर-घर पहुंचाने वाले तुलसी अपने घर में उपेक्षित
हरियाली तीज: जानिए क्यों यह व्रत है महिलाओं के लिए इतना खास

Check Also

यह होता है मूर्ति खण्डित होने का मतलब,जानिए उसके बाद क्या करना चाहिए

बहुत से लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि मूर्ति खण्डित हो गई …