धनतेरस पर जरूर खरीदें ये 4 चीजें, होगी कुबेर की कृपा

दिवाली का त्योहार आने में बस कुछ दिन ही रह गए हैं. मान्यता के मुताबिक, इस शुभ दिन पर लक्ष्मी मां घर आती हैं और अपने भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती हैं. दिवाली से पहले धनतेरस का त्योहार भी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. इस बार धनतेरस 5 नवंबर को है जबकि नरक चौदस 6 नवंबर और दिवाली 7 नवंबर को है.

दिवाली के बाद 8 नवंबर को गोवर्धन पूजा और 9 नवंबर को भाईदूज का त्योहार मनाया जाएगा. 5 दिनों तक चलने वाले इस उत्सव में हर कोई लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के उपाय करता है.

वैसे दिवाली का त्योहार आने के कई दिनों पहले से ही तैयारियां शुरू हो जाती है. घरों की साफ-सफाई, पुताई, साज-सज्जा, दिया और लाइटिंग खरीदना आदि काम बहुत दिन पहले ही कर लिए जाते हैं.

धनतेरस को बहुत ही शुभ दिन माना जाता है. इस दिन खरीदारी करने का विशेष महत्व है. कहा जाता है कि इस दिन खरीदारी करना बेहद शुभ फलदायी होता है. हालांकि ज्यादातर लोगों को सोना-चांदी खरीदना तो याद रहता है लेकिन कई जरूरी चीजों को याद करना भूल जाते हैं.

अगर आप अभी तक यह तय नहीं कर पाए हैं कि आपको इस धनतेरस पर क्या खरीदना चाहिए तो आपको एक बार इस लिस्ट पर जरूर ध्यान देना चाहिए. प्राचीन मान्यताओं के मुताबिक, लक्ष्मी मां को प्रसन्न करने के लिए इन 3 चीजों को खरीदना चाहिए.

सोना या चांदी खरीदना-
अगर आप सोना-चांदी खरीदने की सामर्थ्य रखते हैं तो जरूर खरीदिए लेकिन अगर आप सोने-चांदी के आभूषण नहीं खरीद सकते हैं तो फिर आप छोटा चम्मच भी खरीद सकते हैं. लेकिन इस चम्मच को अपनी बरकत समझकर नियमित तौर पर पूजा में शामिल करें. इससे आपकी समृद्धि में बढ़ोतरी होगी.

अधिकतर लोगों को धनतेरस पर सोना-चांदी खरीदने के बारे में तो पता होता है लेकिन यह नहीं मालूम कि इस दिन धनिया के बीज खरीदने की परंपरा है. इस दिन धनिया खरीदना बहुत शुभ माना जाता है. इसे समृद्धि का प्रतीक माना जाता है. 

लक्ष्मी पूजा के समय धनिया के बीज लक्ष्मी मां को चढ़ाएं और पूजा के बाद किसी बर्तन या बगीचे में धनिया के बीज बो दें. कुछ बीज गोमती चक्र के साथ अपनी तिजोरी में रखें.

धनतेरस के दिन शादीशुदा महिलाओं को सोलह श्रृंगार का तोहफा देना शुभ माना जाता है. इसके अलावा लाल रंग की साड़ी, सिंदूर के साथ देना भी अच्छा माना जाता है. इससे भी लक्ष्मी मां प्रसन्न होती हैं. अगर आपकी जान-पहचान में कोई शादीशुदा महिला नहीं है तो आप किसी कुंवारी लड़की को भी ये गिफ्ट दे सकते हैं.

यह जरूरी नहीं है कि इस दिन आप कुछ खरीदें. लेकिन इस दिन भूलकर भी एल्युमीनियम या कांच के बर्तन ना खरीदें क्योंकि इन्हें राहु से संबंधित माना जाता है और इन्हें घर पर लाने का मतलब है कि मां लक्ष्मी के आगमन से पहले आप राहु को अपने घर पर बुला चुके हैं.

 

राम-सीता का विवाह, जानिए मां जानकी के बारे में खास बातें...
कार्तिक मास में तुलसी पत्र से श्री विष्णु की पूजा करने से भगवान बहुत ही प्रसन्न होते हैं,

Check Also

गाय को भूलकर भी ऐसी रोटी न खिलाएं …..

हिन्दू धर्म के अनुसार हमारे समाज में गाय को माता का स्थान दिया गया है. …