ज्ञान और बुद्धि का दिन है वसंत पंचमी, कैसे करें मां सरस्वती को प्रसन्न, पढ़ें प्रामाणिक पूजन विधि

इस वर्ष 10 फरवरी 2019 को सरस्वती पूजन का महापर्व वसंत पंचमी है। इस दिन मां सरस्वती से ज्ञान, विद्या, बुद्धि और वाणी के लिए विशेष वरदान मांगा जाता है। श्वेत और पीले फूलों से पूजन किया जता है। आइए जानें सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए क्या करें इस दिन….

* यह पूजा वसंत पंचमी पर विशेष रूप से करें अगर न कर सकें तो किसी भी पुष्य नक्षत्र में प्रारंभ की जा सकती है।* वसंत पंचमी के शुभ मुहूर्त में किसी शांत स्थान या मंदिर में पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठें।* अपने सामने लकड़ी का एक बाजोट रखें। बाजोट पर सफेद वस्त्र बिछाएं तथा उस पर सरस्वती देवी का चित्र लगाएं।* उस बाजोट पर एक तांबे की थाली रखें। यदि तांबे की थाली न हो, तो आप अन्य पात्र रखें।* इस थाली में कुंकुम या केसर से रंगे हुए चावलों की एक ढेरी लगाएं।* अब इन चावलों की ढेरी पर प्राण-प्रतिष्ठित एवं चेतनायुक्त शुभ मुहूर्त में सिद्ध किया हुआ ‘सरस्वती यंत्र’ स्‍थापित करें।* इसके पश्चात ‘सरस्वती’ को पंचामृत से स्नान करवाएं। सबसे पहले दूध से स्नान करवाएं, फिर दही से, फिर घी से स्नान करवाएं, फिर शकर से तथा बाद में शहद से स्नान करवाएं।* केसर या कुंकुम से यंत्र तथा चित्र पर तिलक करें।* इसके बाद दूध से बने हुए नैवेद्य का भोग अर्पित करें।* अब आंखें बंद करके माता सरस्वती का ध्यान करें तथा सरस्वती माला से निम्न मंत्र की 11 माला मंत्र जाप करें-ॐ श्री ऐं वाग्वाहिनी भगवतीश्रीन्मुख निवासिनीसरस्वती ममास्ये प्रकाशंकुरू कुरू स्वाहा:* प्रयोग समाप्ति पर माता सरस्वती से अपने एवं अपने बच्चों के लिए ऋद्धि-सिद्धि, विद्यार्जन, तीव्र स्मरण शक्ति आदि के लिए प्रार्थना करें।

वसंत पंचमी पर कर लीजिए विद्या और बुद्धि पाने के यह 5 उपाय, मां सरस्वती का मिलेगा वरदान
इस आरती से करें लक्ष्मी माता को खुश फिर देखिये चमत्कार....

Check Also

सामने आये कोरोना वायरस का नया लक्षण… अब बुखार-खांसी ही नहीं इसे भी जा सकती है जान…

कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया पर जारी है, जिसमें भारत भी है. तेजी से …