बुधवार को बुध गृह को खुश करने के लिए जरूर गाये यह आरती

आप सभी जानते ही हैं कि आज बुधवार का दिन है. ऐसे में इस दिन बुध ग्रह और भगवान गणेश जी का दिन माना जाता है और कहते हैं अगर कुड़ली में बुध ग्रह की स्थिति कमजोर है तो उसे शुभ बनाने के लिए आज बुध ग्रह की पूजा व उपाय करने से लाभ मिल सकता है. जी हाँ, कहा जाता है और ज्योतिषों का मानना है कि बुध ग्रह की पूजा से कुंडली में बुध ग्रह का दोष कम होता है, और इनकी कृपा हम पर बनी रहती है. ऐसे में आज हम आपके लिए लेकर आए हैं भगवान बुध की आरती. इस आरती को बोलने मात्र से बुध अच्छा हो जाता है और जीवन सुधर जाता है. आप सभी को बता दें कि इस आरती को आप केवल बुधवार के दिन पढ़े तो ही आपको लाभ होगा. 

आरती –

आरती युगल किशोर की कीजै, तन-मन-धन, न्योछावर कीजै. टेक.

गौर श्याम सुख निरखत रीझै, हरि को स्वरूप नयन भरी पीजै.

रवि शशि कोटि बदन की शोभा, ताहि निरिख मेरो मन लोभा.

ओढ़े नील पीत पट सारी, कुंज बिहारी गिरवर धारी.

फूलन की सेज फूलन की माला, रत्न सिंहासन बैठे नंदलाला.

मोर-मुकुट मुरली कर सोहे, नटवर कला देखि मन मोहे.

कंचन थार कपूर की बाती, हरि आए निर्मल भई छाती.

श्री पुरुषोत्तम गिरवरधारी, आरती करें सकल ब्रजनारी.

नंदनंदन ब्रजभान किशोरी, परमानंद स्वामी अविचल जोरी.

जानिए इस हफ्ते के त्यौहार और व्रत
शिवपुराण के इस संवाद के कारण बुढ़ापे में माता-पिता से दूर हो जाती हैं संताने

Check Also

मां शाकंभरी की पूजा से होगा हर दुःख दूर, पढ़ें पौराणिक कथा

मां शाकंभरी देवी दुर्गा के अवतारों में एक हैं। दुर्गा के सभी अवतारों में से …