रंगबिरंगी होली पर काली हल्दी चमकाएगी आपकी किस्मत, यह टोटका नहीं ‘महा टोटका’ है

होली का दिन तांत्रिक क्रियाओं के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। इस दिन अभिमंत्रित कर जड़ी-बूटी घर लाई जाती है। कई प्रकार के मंत्रों की सिद्धियां भी की जाती हैं।
काली हल्दी क्या है
काली हल्दी दिखने में अंदर से हल्के काले रंग की होती है व उसका पौधा केली के समान होता है। काली हल्दी में बहुत ही गुणकारी प्रभाव होता है। इसमें वशीकरण की अद्‍भुत क्षमता होती है।
काली हल्दी को कैसे घर पर आमंत्रित करें?
काली हल्दी के पौधे को कंकू, पीले चावल से आमंत्रित कर होली वाले दिन लाया जाता है।
क्या है आमंत्रित करने का तरीका
एक थाली में कंकू, चावल, अगरबती, एक कलश में शुद्ध जल रख, पवित्र कोरे वस्त्र पहन कर जाएं। फिर पौधे को शुद्ध जल से धोकर कंकू चढ़ाएं व पीले चावल चढ़ाकर 5 अगरबत्ती लगाकर कहें- मैं आपके पास अपनी मनोकामना पूर्ति हेतु आया हूं, कल आपको मेरे साथ मेरी मनोकामना की पूर्ति हेतु चलना है।

फिर होली की रात को जाकर एक लोटा जल चढ़ाकर कहें कि मैं आपके पास आया हूं, आप चलिए मेरी मनोकामना की पूर्ति हेतु।

इस प्रकार काली हल्दी (यह जड़ में होती है) खोदकर ले आएं। बस यही आपके काम की है।

यह काली हल्दी आपके जीवन में अपार शुभता लाएगी। इसे जिस मनोकामना के लिए लेकर आए हैं तब तक ही रखें। जैसे ही कामना पूरी हो नदी में विसर्जित कर दें। अगर आप हर तरह की शुभता के लिए इसे लेकर आना चाहते हैं तो चांदी के पात्र में रख कर इसे तिजोरी में बंद कर दें।
इस होली पर सिर्फ यह एक शुभ मंत्र पढ़ लिया तो सफलता के सारे दरवाजे खुल जाएंगे
होलाष्टक के 8 दिन क्यों माने गए हैं अशुभ, आखिर क्यों नहीं करने चाहिए इन दिनों में शुभ काम

Check Also

जानिये क्या है वास्तुशास्त्र, कैसे होता है लाभ

वास्तुशास्त्र किसी भी निर्माण से सम्बंधित चीज़ों के शुभ अशुभ फलों को बताता है. इसके …