जानिये,किन कारणों से आता है , हार्ट-अटैक

धुनिक जीवन में तेजी से बदल रहे लाइफस्टाइल का लोगों की सेहत पर काफी बुरा असर पड़ रहा है. अनहेल्दी लाइफस्टाइल और डाइट की वजह से आजकल अधिकतर लोग दिल की बीमारी से पीड़ित हैं. रिपोर्ट्स के मुताबाकि, हार्ट अटैक के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. यह खतरा हर उम्र के लोगों में देखा जा रहा है. हार्ट अटैक को लेकर एक नई स्टडी की रिपोर्ट में हैरान कर देने वाली बात सामने आई है. स्टडी में दावा किया गया है कि अब आप हार्ट अटैक के खतरे के बारे में पता लगा सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे…

इस स्टडी के लिए शोधकर्ताओं ने करीब 7 सालों तक 1,56,000 हॉस्पिटल के हार्ट अटैक के मरीजों के डेटा की जांच की है. स्टडी के दौरार सामने आया कि सबसे ज्यादा हार्ट अटैक के मामले सोमवार के दिन देखे गए हैं. जबकि सबसे कम शनिवार के दिन. स्टडी की रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि सोमवार के दिन हार्ट अटैक होने का खतरा सप्ताह के दूसरे दिनों के मुकाबले 11 फीसदी ज्यादा होता है. यह स्टडी स्वीडन के शोधकर्ताओं द्वारा की गई है.

इन लोगों को होता है हार्ट अटैक का अधिक खतरा-

स्टडी की रिपोर्ट में सामने आया है कि सोमवार के दिन युवा और कामकाजी लोगों को हार्ट अटैक होने का खतरा अधिक होता है, क्योंकि इस दिन लोगों में काम का प्रेशर अधिक होता है. स्टडी में यह भी बतायी गया है कि इन लोगों में सोमवार के दिन यह खतरा दूसरे दिनों के मुकाबले 20 फीसदी ज्यादा होता है.

इस महीने में होता है सबसे ज्यादा खतरा-

जांच के आधार पर स्टडी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दिसंबर के महीने में हार्ट अटैक होने का खतरा सबसे अधिक होता है, जबकि जुलाई के महीने में यह खतरा सबसे कम होता है.

स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि जब लोगों में तनाव सबसे ज्यादा होता है उस समय हार्ट अटैक होने का खतरा सबसे अधिक होता है. ज्यादा तनाव लेने से शरीर के सिस्टम में कई बदलाव होने लगते हैं, जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है.

हार्ट अटैक के खतरे को कैसे कम करें-

– नियमित तौर पर एक्सरसाइज करें.

– तनाव कम करने के लिए कॉमेडी फिल्म देखें या म्यूजिक सुनें.