किस ग्रह की क्या भूमिका होती: शुभ और अशुभ कार्यों के लिए

मंगल जब ख़राब हो तो मंगल कार्य होना एक चुनौती हो जाती है. मंगल कार्य में सबसे बड़ी भूमिका स्वयं मंगल की होती है. इसके बाद इसमें तमाम शुभ ग्रहों की भूमिका होती है. बृहस्पति भी शुभ और मंगल कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. शनि, राहु और केतु मंगल कार्यों में आम तौर पर बाधा देते हैं.

बुद्ध पूर्णिमा 18 मई 2019 को मनाई जा रही: जानें-पूजन विधि और महत्व
'नृसिंह' करेंगे उध्दार 'श्रीहरि' के अवतार,

Check Also

कुलदेवता की पूजा खास मौकों पर की जाती: धर्म

हर परिवार के एक कुलदेवता होते हैं. इनकी पूजा खास मौकों पर की जाती है. …